सड़क हादसे में 12वीं टॉपर की मौत, मुख्यमंत्री शिवराज ने किया था सम्मानित

Uttam Kumar, Last updated: Wed, 22nd Dec 2021, 10:45 AM IST
  • 12वीं कक्षा में टॉप करने वाली छात्रा आंचल की बुधवार सुबह सड़क हादसे में मौत हो गई. होनहार छात्र MPPSC की कोचिंग जाने के लिए गाड़ी का इंतजार कर रही थी. इसी बीच एक बस रौंदते हुए निकाल गई. जिससे छात्र की मौके पर मौत हो गई. 12वीं कक्षा में टॉप करने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सम्मानित किया था.   
इंदौर आईटी पार्क चौराहे के पास सड़क हादसे में 12वीं टॉपर की मौत, मुख्यमंत्री शिवराज ने किया था सम्मानित.(प्रतीकात्माक फोटो)

इंदौर. 12वीं कक्षा में टॉप करने वाली रीवा निवासी होनहार छात्रा आंचल की बुधवार सुबह सड़क हादसे में मौत हो गई. मृतक छात्रा मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (एमपीपीएसी) की तैयारी कर रही थी. आज सुबह कोचिंग जाने के लिए गाड़ी का इंतजार कर रही थी. इसी बीच एक स्कूल गाड़ी छात्रा को रौदती हुई निकल गई जिसके चलते छात्रा की मौत मौके पर हो गई. घटना की जानकारी मिलते ही भंवरकुआं थाना पुलिस मौके पर पहुंच कर घटना की जांच शुरू कर दिया है. पुलिस क्षेत्र में लगे सीसीटीवी फुटेज की मदद से हादसे को अंजाम देने वाले बस की तलाश कर रही है. 

रीवा निवासी आंचल ने 12वीं कक्षा में शीर्ष स्थान प्राप्त किया था. जिसके लिए सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा सम्मानित भी किया गया था. चुकी होनहार छात्रा ऑफिसर बनकर देश की सेवा करना चाहती थी, तो इसके लिए उसने विज्ञान विषय में स्नातक करने के बाद एमपीपीएसी की तैयारी करने के लिए इंदौर में रह रही थी. छात्रा तीन इमली चौराहा इंदौर में किराये के रूम में रहती थी. प्रतिदिन की तरह आज सुबह कोचिंग जाने के लिए वह अपने कमरे से निकालकर आईटी पार्क चौराहे के पास गाड़ी का इंतेजार कर रही थी. वह भंवरकुआं चौराहा स्थित निजी कोचिंग से पीएससी की तैयारी कर रही. 

Apple प्रोडक्ट के नाम पर जमकर हो रही धोखाधड़ी, कहीं आप भी तो शिकार...

पुलिस के अनुसार मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दिया गया है. सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बस की तलाश की जा रही है. घटना की वजह कोहरा हो सकता है. मृतक छात्र के पास से मिले आईडी कार्ड से उसकी पहचान 19 वर्षीय आंचल के रूप में हुई है. पुलिस ने उसकी रूम पार्टनर और परिवार को हादसे की सूचना दे दी है. आंचल यहां तीन इमली चौराहे पर कमरा किराए लेकर रह रही थी और एमपीपीएसी की तैयारी करती थी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें