इंदौर में बिजली कंपनी बनाएगी पहला गैस आधारित पावर सब स्टेशन, बढ़ेगी ट्रांसमिशन क्षमता

Swati Gautam, Last updated: Mon, 15th Nov 2021, 9:50 AM IST
  • मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी प्रदेश का पहला गैस आधारित सब स्टेशन (जीआईएस) बनाने जा रही है जो मां लक्ष्मी नगर में बनाया जाएगा. इसका मुख्य उद्देश्य इंदौर की ट्रांसमिशन क्षमता बढ़ाना है. इसमें तकरीबन 40.84 करोड़ की लागत लगेगी.
इंदौर में बिजली कंपनी बनाएगी पहला गैस आधारित पावर सब स्टेशन, बढ़ेगी ट्रांसमिशन क्षमता. file photo

इंदौर. मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी प्रदेश का पहला गैस आधारित सब स्टेशन (जीआईएस) बनाने जा रही है. इसका मुख्य उद्देश्य इंदौर की ट्रांसमिशन क्षमता बढ़ाना है. बता दें कि यह गैस आधारित सबस्टेशन शहर के मां लक्ष्मी नगर में बनाया जाएगा जिसमें तकरीबन 40.84 करोड़ की लागत लगेगी. जीआइएस के निर्माण से शहर के पूर्वी क्षेत्र में विद्युत ट्रांसमिशन व्यवस्था को मजबूती मिलेगी और इंदौर को अति उच्चदाब सबस्टेशन का एक और विकल्प उपलब्ध हो जाएगा. खास बात यह है कि इस सबस्टेशन में अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है जिसकी मदद से इसे कम से कम आपरेटर के साथ या रिमोट से भी संचालित किया जा सकेगा.

मालूम हो कि इंदौर में ट्रांसमिशन की क्षमता को बढ़ाने की जरूरत है. वहीं बढ़ती मांग को देखते हुए सब स्टेशनों के निर्माण की भी जरूरत लेकिन इस बीच जो समस्या आती है वह है जमीन की. दरअसल परम्परागत सब स्टेशन के निर्माण के लिए अत्यधिक जमीन की जरूरत होती है और इसके लिए पर्याप्त जमीन उपलब्ध नहीं हो पा रही थी जिसके बाद मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने यहां गैस आधारित पावर सब स्टेशन बनाने का निर्णय लिया है. इस सब स्टेशन के निर्माण से पूर्वी इंदौर के कई क्षेत्रों जिनमें नई कालोनियों के अलावा कई व्यावसायिक प्रतिष्ठान भी शामिल है को उचित वोल्टेज की गुणवत्ता पूर्ण विद्युत प्रदान किया जा सकेगा.

MP के इस जिले में अगर वैक्सीन नहीं लो तो नहीं मिलेगी ये नमकीन

जानकारी अनुसार जीआइएस के निर्माण में परम्परागत एयर इंसुलेटेड सब स्टेशनों के मुकाबले कम जमीन इस्तेमाल होती है और खास बात यह है कि इसकी लागत परम्परागत सबस्टेशन की तुलना में काफी अधिक आती है. इसलिए कंपनी ने इंदौर की जरूरत को देखते हुए इसके निर्माण की मंजूरी दी थी. गैस इंसुलेटेड चेंबर में रहने के कारण इन सबस्टेशनों के उपकरणों में कम खराबी आती है. सामान्यत बोलचाल की भाषा में इसे मेंटेनेंस फ्री सबस्टेशन भी कहा जाता है. इस सब स्टेशन के निर्माण से इंदौर में बन रही मेट्रो रेल परियोजना के लिए भी पर्याप्त मात्रा में विद्युत उपलब्धता विकल्प के साथ बनी रहेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें