दहेज के लिए पत्नी को करता था प्रताड़ित, पत्नी ने की आत्महत्या, कोर्ट ने सुनाई 10 साल की सजा

Priya Gupta, Last updated: Tue, 7th Sep 2021, 12:11 PM IST
  • इंदौर में एक पति ने अपनी पत्नी को दहेज के लिए इतना सताया कि पत्नी ने खुद को जलाकर मार डाला.
दहेज के लिए पत्नी को करता था प्रताड़ित

इंदौर: इंदौर में एक पति ने अपनी पत्नी को दहेज के लिए इतना सताया कि पत्नी ने परेशान होकर आत्महत्या कर ली. युवती ने आत्महत्या से पहले सुसाइड नोट लिखा था जिसमें, पति द्वारा प्रताड़ना के बारे में सारी बातें लिखी थी. स्पेशल कोर्ट ने इस मामले में आत्महत्या करने पर मजबूर करने वाले पति को दस साल की कठोर सजा सुनाई है. साथ ही कोर्ट ने पति पर 6 हजार रु का जुर्माना भी लगाया.

जानें पूरा मामला

जिला अभियोजन अधिकारी संजीव श्रीवास्तव के मुताबिक, 2017 में थाना कनाड़िया इंदौर पुलिस को डाक्टरों द्वारा जानकारी मिली थी कि 23 वर्ष की एक महिला को भगवान सिंह नामक व्यक्ति अरबिंदो हॉस्पिटल लाया था जिसका शरीर 80 प्रतिशत जला हुआ था. जिसकी इलाज के दौरान ही मौत हो गई. पुलिस ने इस मामले में छानबीन शुरू की. छानबीन के दौरान मृतका का सुसाइड नोट मिला जिसमें लिखा था कि उसका पति उसे दहेज के लिए रोज प्रताड़ित करता है. इसलिए वह जीना नहीं चाहती और आत्महत् करने पर मजबूर होकर वह आग लगाकर खुद को मार रही है.

IPL टीम की दौड़ में लखनऊ समेत 6 शहर, 2022 में 8 की जगह 10 फ्रैंचाइजी खेलेंगी

इस सुसाइट नोट के आधार पर पति को स्पेशल कोर्ट ने 10 साल की सजा सुनाई है. फाइन जमा नहीं करने पर तीन महीने के लिए अतिरिक्त कारावास व धारा 498 A भादवि में 3 साल का कारावास एवं 1 हजार रुपए दंड दिया है. राशि अदा न करने पर एक माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें