MP: किसान सम्मान निधि के पैसे दिलाने के लिए पटवारी का घूस लेते हुए वीडियो वायरल

Shubham Bajpai, Last updated: Wed, 10th Nov 2021, 10:21 PM IST
  • एमपी के शिवपुरी के एक पटवारी का एक वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें पटवारी किसान सम्मान निधि का फार्म भरने के एवज में 200 रुपये ले रहा है. इस मामले में तहसीलदार ने जांच शुरू कर दी है. जल्द ही जांच पूरी होने के बाद पटवारी पर कार्रवाई हो सकती है.
MP के पटवारी का वीडियो वायरल, किसान निधि का फॉर्म भरने के नाम पर कर रहा वसूली

भोपाल. मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के एक पटवारी का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. जिसमें पटवारी किसान सम्मान निधि के फॉर्म भरने में आ रही परेशानियों को दूर करने के लिए प्रति फॉर्म 200 रुपये ले रहा है. इस वीडियो के सामने आने के बाद शिवपुरी जिले में हड़कंप मच गया और तत्काल तहसीलदार ने मामले की जांच शुरू कर दी है.

पटवारी की पहचान रघुवीर जाटव के रूप में हुई है. ये शिवपुरी के खनियाधाना तहसील के छोटी बमौरी में कार्यरत है.

भोपाल अग्निकांड: राशिद ने बचाई 7 बच्चों की जान, खुद का भतीजा झुलसकर मर गया

वीडियो में मांग रहा पैसे

वीडियो में दिख रहा है कि रघुवीर एक कमरे में बैठा है जिसके पास कुछ कागज है और सामने कुछ नोट पड़े हुए हैं. इस दौरान कई किसान जब अपना फॉर्म भरवाने आते हैं तो रघुवीर उनसे सामने रखे रुपये उठाकर 200 रुपये वापस करने की बात करता है. इस दौरान ही किसी किसान ने वीडियो बना लिया और उसको वायरल कर दिया.

किसानों का आरोप पटवारी कर रहा वसूली

इस मामले में कई किसानों ने आरोप लगाया कि पटवारी फॉर्म भरवाने के नाम पर 200 रुपये की वसूली कर रहा है. वहीं. एक किसान का कहना है कि पटवारी को आवेदन देने के बाद भी अब तक सम्मान निधधि का पैसा नहीं मिला है. अब किसान विडियो सामने आने के बाद पटवारी पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने उठाई अजान पर आपत्ति, कहा- सुबह-शाम लोगों की नींद होती है खराब

जांच पूरी कर कार्रवाई के लिए अधिकारियों को भेजेंगे रिपोर्ट

इस मामले में तहसीलदार सुनील तिवारी का कहना है कि वीडियो संज्ञान में आने के बाद ही जांच शुरू कर दी गई है.इस मामले में पटवारी और किसानों को बयाने देने के लिए बुलाया गया है. जल्द ही उनके बयान दर्ज होने के बाद जांच रिपोर्ट तैयार करके कार्रवाई के संबंध में अधिकारियों को भेज दी जाएगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें