MP बोर्ड बिना एग्जाम लिए ऐसे तैयार करेगा 9वीं और 11वीं के छात्रों का रिजल्ट

Smart News Team, Last updated: 17/04/2021 04:37 PM IST
  • शुक्रवार को मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से कहा गया है कि स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी निर्देशानुसार कक्षा 9वीं एवं 11वीं के विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षा नहीं ली जाएगी. अब उनका मूल्यांकन अकादमिक सत्र के दौरान पूर्व में किए गए मूल्यांकन के बेसिस पर किया जाएगा.
अब छात्रों का मूल्यांकन पहले ली गई परीक्षाओं या टेस्ट के बेसिस पर किया जाएगा. (प्रतिकात्मक फोटो)

इंदौर- MPBSE यानि मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की कक्षा 9 और 11 की वार्षिक परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं. अब इन कक्षाओं के छात्रों का मूल्यांकन पहले ली गई परीक्षाओं या टेस्ट के बेसिस पर किया जाएगा. शुक्रवार को मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से कहा गया है कि स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी निर्देशानुसार कक्षा 9वीं एवं 11वीं के विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षा नहीं ली जाएगी. अब उनका मूल्यांकन अकादमिक सत्र के दौरान पूर्व में किए गए मूल्यांकन के बेसिस पर किया जाएगा.

बताते चलें कि इस संबंध में राज्य के सभी जिलाधिकारियों को स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से सूचना भेज दी गई है. साथ ही जिलाधिकारियों को भेजी सूचना में कहा गया है कि वर्तमान में कोरोना संक्रमण के विस्तार तथा जिलों में कोरोना लॉकडाउन (कर्फ्यू) की स्थिति को देखते हुए कक्षा 9वीं एवं 11वीं की वार्षिक परीक्षा के लिए पूर्व में जारी निर्देश निरस्त किए जाते हैं. स्कूल शिक्षा विभाग के मुताबिक, विभाग द्वारा 20 नवंबर से 28 नवंबर तक लिए गए रिवीजन टेस्ट तथा एक फरवरी से 9 फरवरी तक आयोजित अर्धवार्षक परीक्षा में से विद्यार्थियों द्वारा जिसमें बेहतर अंक प्राप्त किए हों उसके आधार पर कक्षा 9, 11 का एग्जाम रिजल्ट घोषित किया जाएगा.

इंदौर: 20 लाख के 400 नकली रेमेडिसविर इंजेक्शन के साथ फार्मा कंपनी मालिक गिरफ्तार

साथ ही बताते चलें कि 10वीं और 12वीं कक्षा की वार्षिक थ्योरी परीक्षाएं स्थगित करने के बाद प्रैक्टिकल एग्जाम को लेकर दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं. एमपी बोर्ड द्वारा जारी मध्य प्रदेश के सभी कलेक्टर, सीईओ जिला पंचायत और जिला शिक्षा अधिकारियों के नाम जारी गाइडलाइन में लिखा है कि हाईस्कूल / हायर सेकेण्डरी / हायर सेकेण्डरी व्यावसायिक / डिप्लोमा इन प्री स्कूल एजुकेशन / शारीरिक शिक्षा परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले नियमित छात्रों की प्रायोगिक परीक्षाएं दिनांक 17 अप्रैल 2021 से 20 मई 2021 के बीच संबंधित संस्था में आयोजित की जानी है. ऐसे में वर्तमान परिस्थिति को ध्यान में रखते हुये कोविड 19 के संक्रमण से बचाव के लिए समस्त नियमों एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए छात्रों को छोटे ग्रुप (जैसे 20/30/50) बनाकर नियत अवधि के बीच संस्था की सुविधानुसार पैक्टिकल परीक्षा संपन्न कराकर ओएमआर शीट जिले की समन्वयक संस्था में जमा कराना सुनिश्चित किया जाए.

इंदौर का डॉक्टर हिमाचल में बना रहा था नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन, गिरफ्तार

इंदौर सर्राफा बाजार में सोना चांदी की मांग बढ़ने से हुआ मंहगा, आज का भाव

MP सीएम शिवराज सिंह चौहान होम आइसोलेट, बड़े बेटे कार्तिकेय हुए कोरोना पॉजिटिव

शिवराज सरकार के मंत्री के बिगड़े बोल-जिनकी उम्र हो जाती है,उन्हें मरना पड़ता है…

कोरोना का नया स्ट्रेन बच्चों को भी बना रहा शिकार, नहीं निकलने दें घर से बाहर

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें