इंदौर में लगी राष्ट्रीय लोक अदालत, आपसी सहमति से कई मामले निपटाए

Smart News Team, Last updated: 12/12/2020 11:00 PM IST
  • इंदौर जिला न्यायालय, परिवार न्यायालय, श्रम न्यायालय सहित जिले की सभी तहसील न्यायालयों में राष्ट्रीय लोक अदालतों का आयोजन किया गया. इसमें मुख्य रूप से क्लेम प्रकरण, चेक बाउंस, सिविल प्रकरण, पारिवारिक मामले, श्रम मामले, राजस्व, मनरेगा सहित भूमि अधिग्रहण जैसे मामलों का आपसी समझौते से निपटारा किया गया.
राष्ट्रीय लोक अदालत में मामलों का निपटारा करवाते लोग

इंदौर. इंदौर में शनिवार को जिला कोर्ट, कुटुंब न्यायालय सहित जिले की सभी तहसील और अन्य न्यायालयों में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया. इंदौर जिले में लोक अदालत में ऑनलाइन और ऑफलाइन प्रकरण सुनवाई के लिए रखे गए. इनमें  विद्युत विभाग,  बीएसएनल,  बीमा कंपनियों के दावे शामिल थे. 

जिला न्यायाधीश दिनेश कुमार पालीवाल ने बताया कि 23 मार्च को करोना काल शुरू होने के बाद पहली राष्ट्रीय लोक अदालत संपूर्ण देश में आयोजित की गई. उसी के तहत इंदौर में भी राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया. इसमें ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों ही तरह से प्रकरण का निपटान किया गया. लोक अदालत में दो बड़े मोटर व्हीकल एक्ट के तहत राजीनामा हुआ, जिसकी राशि 50 लाख रुपए रही. इसके अलावा भी कई अन्य मामले भी निपटाए गए. पालीवाल ने कहा कि यह लोक अदालत की सफलता को इंगित करता है. 

सीएम शिवराज ने कहा- इंदौर में नशे के कारोबारियों को पनपने नहीं दिया जाएगा

गौरतलब है कि इंदौर जिला न्यायालय, परिवार न्यायालय, श्रम न्यायालय सहित जिले की सभी तहसील न्यायालयों में राष्ट्रीय लोक अदालतों का आयोजन किया गया. इसमें मुख्य रूप से क्लेम प्रकरण, चेक बाउंस, सिविल प्रकरण, विद्युत अधिनियम, पारिवारिक मामले, श्रम मामले, राजस्व, मनरेगा सहित भूमि अधिग्रहण जैसे मामलों का आपसी समझौते से निपटारा किया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें