अब हवा से ऑक्सीजन तैयार कर दी जाएगी मरीजों को, एमपी को मिली एक हजार मशीनें

Smart News Team, Last updated: Sat, 12th Sep 2020, 10:46 AM IST
  • यह मशीन हवा को मेडिकल ऑक्सीजन में बदलकर मरीजों को आसानी से उपलब्ध कराई जाएंगी. केंद्र ने मध्यप्रदेश में एक हजार मशीनों की व्यवस्था की है. शनिवार को 400 और मशीनें जिलों व मेडिकल कॉलेजों में उपलब्ध करा दी जाएंगी.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

केंद्र सरकार ने कोरोना संक्रमित मरीजों की सलामती के लिए एक हजार नई मशीनें मध्य प्रदेश सरकार को सौंपी है. यह मशीन हवा को मेडिकल ऑक्सीजन में बदलकर मरीजों को आसानी से उपलब्ध कराई जाएंगी. यह मशीन वायुमंडल से हवा को लेकर ऑक्सीजन का रूप परिवर्तित करते हुए स्वास्थ्य लाभ देने के लिए लाभदायक है.

कोरोना संक्रमित मरीजों को ऑक्सीजन उपलब्ध कराए जाने के लिए सरकारें खासी चिंतित थी. मगर अब एक ऐसी मशीन का इजाद कर लिया गया है जो वायुमंडल से की हवा से उसे मेडिकल ऑक्सीजन के रूप में परिवर्तित कर देगी और यह मशीन एक साथ दो व्यक्तियों को ऑक्सीजन देने का कार्य करेगी. केंद्र ने मध्यप्रदेश में एक हजार मशीनों की व्यवस्था की है. यह मशीन एक जिले में दो उपलब्ध कराई जाएंगी.

मेडिकल अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि 20 मशीनें दो दिनों के अंदर रवाना की गई है. शनिवार को 400 और मशीनें जिलों व मेडिकल कॉलेजों में उपलब्ध करा दी जाएंगी. उनका मानना है कि किसी भी इमरजेंसी में यह मशीन मरीज को लाभ दे सकती है. मेडिकल ऑक्सीजन की संभावित आ रही दिक्कतों को देखते हुए केंद्र ने मध्यप्रदेश को यह एक हजार मशीनें उपलब्ध कराई है.

इंदौर: बच्चा चोर गिरोह में सामने आए दो डॉक्टर, सौदेबाजी में तय होता था कमीशन

उन्होंने बताया भोपाल में तीन, इंदौर में दो, जबलपुर में नौ, ग्वालियर में दो तथा उज्जैन में पांच मशीनें अब तक उपलब्ध कराई गई है. जबकि सर्वाधिक मशीन छतरपुर में 23, शहडोल में 20, बालघाट में 18, गुना में 17, दमोह में 16, शिवपुरी, सतना, राजगढ़ और नरसिंहपुर में 15 मशीनें भेज दी गई है. यदि आवश्यकता पड़ी तो केंद्र द्वारा मशीनें और भी अधिक संख्या में उपलब्ध कराई जा सकती है. केंद्र द्वारा इन मशीनों को भेजे जाने से ऑक्सीजन की आ रही दिक्कतों से राहत मिलेगी और मरीज को अब शीघ्र ऑक्सीजन दी जा सकेगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें