इंदौर: पानी ना मिलने से जिला अस्पताल में हुआ मरीजों का हाल बेहाल

Smart News Team, Last updated: Mon, 9th Nov 2020, 7:59 PM IST
  • इंदौर: पं. गोविंद वल्लभ पंत जिला अस्पताल से बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां अधिकारियों की लापरवाही से गर्भवती महिलाओं, घटना व दुर्घटना में घायल होकर आने वाले लोगों को पानी तक नसीब नहीं हो पा रहा है.
जिला अस्पताल के हाल दिन पे दिन खराब होते हुए

इंदौर: धार रोड स्थित पं. गोविंद वल्लभ पंत जिला अस्पताल से बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है. दरअसल, अस्पताल को नए सिरे से बनाया जा रहा है. ऐसे में खंडहर में तब्दील हो चुके अस्पताल में अधिकारियों की लापरवाही से गर्भवती महिलाओं, घटना व दुर्घटना में घायल होकर आने वाले लोगों को पानी तक नसीब नहीं हो पा रहा है, जिसके कारण वहां आने वाले मरीजों को बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

मां की अस्थियों का विसर्जन करने हरिद्वार गए परिवार के घर बदमाशों ने की चोरी

वहीं, अस्पताल में कर्मचारियों की लापरवाही के कारण शव परीक्षण विभाग में पानी की घंटों बर्बादी हो रही है. जहां एक तरफ मरीज अस्पताल में एक-एक बूंद के लिए मोहताज हो रहे हैं, वहीं, दूसरी ओर शव परीक्षण विभाग में इस तरह की लापरवाही सामने आ रही है. लाखों रुपये खर्च कर चिकित्सालय के खंडहर मलबे के सामने बने दवा स्टोर में चल रही ओपीडी और डीईआइसी भवन में गर्भवती महिलाओं की सोनोग्राफी, खून की जांच, टीकाकरण के लिए मरीज पहुंच रहे हैं. इन मरीजों को पीने के पानी की जरूरत होती है, जो यहां उपलब्ध नहीं हो पाता है.

ऐसे में प्रशासन लोगों को सुविधाएं देने में नाकामयाब साबित हो रहा है. अस्पताल में मरीजों की बेहाली के साथ मानव अधिकारों का भी हनन हो रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें