इंदौर में रिटायर्ड अधिकारी की संदिग्ध हालात में मौत, जहर खाने की आशंका

Smart News Team, Last updated: 04/03/2021 01:58 PM IST
  • इंदौर में विकास प्राधिकरण से चार साल पहले रिटायर्ड अधिकारी की उल्टी के बाद मौत हो गई. परिजनों ने उन्हें पास के ही हॉस्पिटल में भर्ती कराया था, जहां डॉक्टर ने शरीर में जहर होने की बात कही.
सांकेतिक फोटो

इंदौर. इंदौर विकास प्राधिकरण के रिटायर्ड संपदा अधिकारी की बीते बुधवार को संदिग्ध हालात में मौत हो गई. जहां परिजनों ने अधिकारी की मौत की वजह हार्टअटैक बताया तो वहीं डॉक्टरों ने उनके शरीर में जहर होने की आशंका जाहिर की. बताया जा रहा है कि परिजनों ने हार्टअटैक की आशंका के कारण ही उन्हें पास के अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां डॉक्टरों ने उनके शरीर में जहर की आशंका जताई और तुरंत ही मामले की जानकारी विजय नगर पुलिस को दी.

पुलिस ने मौके पर पहुंचते ही शव को पोस्टमार्टम के लिए इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल में भेज दिया है. इस बारे में बात करते हुए विजय नगर थाना प्रभारी तहजीब काजी ने बताया कि मृतक का नाम प्रकाशचंद जैन था, जिनकी उम्र करीब 64 साल है. बुधवार की दोपहर अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई और वह घर में ही तड़पने लगे. उनकी हालत देख परिजन हार्ट अटैक मानकर उन्हें निजी अस्पताल ले गए, जहां उल्टी होने के कुछ देर बाद ही उन्होंने दम तोड़ दिया. जांच के दौरान डॉक्टरों को उनके शरीर में जहरीला पदार्थ होने के संकेत मिले, जिसके बाद उन्होंने मामले की सूचना पुलिस को दी.

बर्थडे पार्टी के नाम पर लड़कियों को किया अगवा, धर्म परिवर्तन का बनाया दबाव

पुलिस ने एमवायएच में पोस्टमार्टम के बाद रिटायर्ड अधिकारी का शव परिजन को सौंप दिया. बताया जा रहा है कि अब रिपोर्ट आने के बाद ही पूरी स्थिति साफ हो सकती है. वहीं, मृतक के भाई हुकुमचंद जैन ने बताया कि उन्हें हार्ट अटैक की जानकारी लगी थी. वे आईडीए में सहायक संपदा अधिकारी पद से 4 साल पहले ही रिटायर्ड हुए थे. आईडीए में कार्यरत होने के अलावा वह नगर निगम आवास योजना में भी काम कर चुके हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें