सेल्फ चेक प्लस व सैनिटाइजर मशीन से इंदौर स्टेशन पर यात्री के साथ सामान सैनिटाइज

Smart News Team, Last updated: 21/09/2020 10:57 AM IST
  • इंदौर. इस मशीन के सामने जब कोई व्यक्ति या यात्री खड़ा होगा तो मशीन से अल्ट्रा वायलेट किरण निकलेगी जो व्यक्ति को छुएगी.इसके बाद मशीन व्यक्ति से सैनिटाइज के बारे में पूछेगी. यात्री के बताने के बाद मशीन के अलग-अलग बॉक्स में मोबाइल आदि सामान रखना होगा. 
प्रतीकात्मक तस्वीर 

इंदौर। सेल्फ चेक प्लस व सैनिटाइजर कियोस्क' जी हां हम बात कर रहे रेलवे स्टेशन इंदौर पर ऐसी मशीन लगाई गई है जिससे यात्री के साथ साथ उसका सामान भी सैनिटाइज होगा. एक संस्था द्वारा दी गई यह मशीन सांसद शंकर लालवानी ने लगवाई है।

वहीं रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी जितेंद्र कुमार जयंत के मुताबिक प्लेटफॉर्म नंबर एक पर लगाई गई मशीन 'सेल्फ चेक प्लस व सैनिटाइजर कियोस्क' के सामने जब कोई व्यक्ति या यात्री खड़ा होगा तो मशीन से अल्ट्रा वायलेट किरण निकलेगी जो व्यक्ति को छुएगी.

इसके बाद मशीन व्यक्ति से सैनिटाइज के बारे में पूछेगी. यात्री के बताने के बाद मशीन के अलग-अलग बॉक्स में मोबाइल आदि सामान रखना होगा. बॉक्स सेंसर के माध्यम से खुलेंगे और सामान अल्ट्रा वायलेट किरणों से सैनिटाइज होने के बाद यात्री अपना सामान ले सकेगा.

इंदौर को बेगर फ्री यानी भिक्षुक मुक्‍त बनाने की योजना है पांच महीनों से बन्द

यात्री को खून में अपना ऑक्सीजन का स्तर जांचने के लिए मशीन द्वारा बताए गए स्थान पर अपनी उंगली रखनी होगी. इसके बाद मशीन के मानीटर पर यात्री का ऑक्सीजन का स्तर दिखाई देगा. फिर मशीन यात्री को निर्देशित करेगी कि अपने हाथ मशीन के अंदर बने चैंबर में ले जाएं जहां से निकले सैनिटाइजर से यात्री अपने हाथ साफ कर सकेगा.

इंदौर। सेल्फ चेक प्लस व सैनिटाइजर कियोस्क' जी हां हम बात कर रहे रेलवे स्टेशन इंदौर पर ऐसी मशीन लगाई गई है जिससे यात्री के साथ साथ उसका सामान भी सैनिटाइज होगा. एक संस्था द्वारा दी गई यह मशीन सांसद शंकर लालवानी ने लगवाई है।

वहीं रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी जितेंद्र कुमार जयंत के मुताबिक प्लेटफॉर्म नंबर एक पर लगाई गई मशीन 'सेल्फ चेक प्लस व सैनिटाइजर कियोस्क' के सामने जब कोई व्यक्ति या यात्री खड़ा होगा तो मशीन से अल्ट्रा वायलेट किरण निकलेगी जो व्यक्ति को छुएगी.

इसके बाद मशीन व्यक्ति से सैनिटाइज के बारे में पूछेगी. यात्री के बताने के बाद मशीन के अलग-अलग बॉक्स में मोबाइल आदि सामान रखना होगा. बॉक्स सेंसर के माध्यम से खुलेंगे और सामान अल्ट्रा वायलेट किरणों से सैनिटाइज होने के बाद यात्री अपना सामान ले सकेगा.

इंदौर को बेगर फ्री यानी भिक्षुक मुक्‍त बनाने की योजना है पांच महीनों से बन्द

यात्री को खून में अपना ऑक्सीजन का स्तर जांचने के लिए मशीन द्वारा बताए गए स्थान पर अपनी उंगली रखनी होगी. इसके बाद मशीन के मानीटर पर यात्री का ऑक्सीजन का स्तर दिखाई देगा. फिर मशीन यात्री को निर्देशित करेगी कि अपने हाथ मशीन के अंदर बने चैंबर में ले जाएं जहां से निकले सैनिटाइजर से यात्री अपने हाथ साफ कर सकेगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें