MP के सभी शहरों में अब साप्ताहिक बंदी, फुल वीकेंड लॉकडाउन, जानें टाइमिंग

Smart News Team, Last updated: 08/04/2021 05:39 PM IST
  • प्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन का फैसला किया है. 
MP के सभी शहरों में अब साप्ताहिक बंदी, फुल वीकेंड लॉकडाउन, जानें टाइमिंग (प्रतीकात्मक फ़ोटो)

इंदौर: CM शिवराज सिंह की मध्य प्रदेश सरकार ने बढ़ते कोरोना के मामलों के मद्देनजर बड़ा फैसला लिया है, प्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन का फैसला किया है. राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते यह फैसला लिया गया है. यह फैसला सिर्फ राज्य के शहरी क्षेत्रों में ही लागू होगा. मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि शुक्रवार को शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक प्रदेश के सभी शहरों में लॉकडाउन लागू रहेगा. इसके अलावा भविष्य में कुछ और सख्तियां भी लागू की जा सकती हैं. शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की मीटिंग के बाद उन शहरों को लेकर फैसले लिए जाएंगे, जहां केसों की रफ्तार अन्य क्षेत्रों के मुकाबले अधिक है.

अभी तक था सिर्फ नाइट कर्फ्यू का ऐलान

बुधवार को ही मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह सरकार ने कोरोना संक्रमण के फैलाव के चलते सभी शहरी इलाकों में 8 अप्रैल से नाइट कर्फ्यू लगाने की घोषणा की थी. साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि प्रदेश के सभी सरकारी कार्यालयों में आगामी तीन महीनों तक हफ्ते में पांच दिन (सोमवार से शुक्रवार) ही कामकाज होगा. इस बारे में शिवराज सिंह चौहान ने खुद ट्वीट किया था, जिसमें लिखा था, 'कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण की रोकथाम के लिए आज बैठक में कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए. प्रदेश के सभी सरकारी कार्यालयों में आगामी 3 महीने तक सप्ताह में 5 दिन (सोमवार से शुक्रवार), सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक ही कामकाज होगा. शनिवार-रविवार को ये बंद रहेंगे.'

कोविड जांच के लिए निजी अस्पताल और लैब में नहीं होगी मनमानी वसूली, नई कीमतें तय

गौरतलब है कि प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 1904 नए मामले सामने आए हैं और इसी के साथ यहां गुरुवार तक मरीजों का आंकड़ा 26059 तक पहुंच गया है. इस दौरान 13 नई मौतों के साथ मरने वालों की कुल संख्या 4086 पहुंच गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को ये जानकारी दी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें