मध्य प्रदेश: 21 सितंबर से खुलेंगे मध्यप्रदेश के कक्षा 9 से 12 तक के स्कूल

Smart News Team, Last updated: Sun, 13th Sep 2020, 6:34 AM IST
  • विद्यालयों में पठन-पाठन की प्रक्रिया 21 सितंबर से शुरू हो जाएगी. जिसमें कक्षा 9 से 12 तक की क्लासेस ही संचालित होंगी. विद्यालय आने वाले छात्र मास्क, फेस कवर पहनकर अलग-अलग रहे. विद्यालय में प्रवेश और निकासी के लिए एक से अधिक गेट हो.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

मध्य प्रदेश सरकार ने स्कूलों को खोले जाने के लिए गाइडलाइन जारी कर दी है. केंद्र सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुरूप विद्यालयों में पठन-पाठन की प्रक्रिया 21 सितंबर से शुरू हो जाएगी. जिसमें कक्षा 9 से 12 तक की क्लासेस ही संचालित होंगी. केंद्र की स्कूल री ओपनिंग गाइडलाइन के अनुरूप एसओपी का पालन किया जाएगा.

जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना ने आदेश जारी करते हुए बताया भोपाल में 79 सरकारी, एमपी बोर्ड से संबद्ध 200 और सीबीएसई से संबद्ध 132 हाई एवं हायर सेकेंडरी स्कूल हैं. गाइडलाइन के अनुसार 9 से 12 तक के बच्चों को स्कूल जाने के लिए अभिभावकों से लिखित अनुमति लेना जरूरी होगा. गाइडलाइन के अनुसार स्कूल छोड़ते समय और खाली समय में छात्र इकट्ठे नहीं होंगे. यह तय करने के लिए स्कूल प्रबंधन द्वारा उन्हें जागरूक करना होगा. कोविड संबंधित व्यवहार के बारे में विद्यार्थियों को जागरूक करने के लिए माता-पिता, शिक्षकों और कर्मचारियों को सामान्य उपाय अपनाने के बारे में संवेदनशील करें. यदि कोई विद्यार्थी, शिक्षक व कर्मचारी बीमार है तो वह स्कूल नहीं आए और सरकार द्वारा तय किए गए प्रोटोकॉल का पालन करें. डिप्रेशन जैसे मानसिक स्वास्थ्य के मामले वाले विद्यार्थियों और शिक्षकों के नियमित परामर्श कराने का इंतजाम किया जाए. बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ के मामले में एसओपी का पालन किया जाए. ऐसे बीमार या लक्षण वालों को एक अलग कमरे या क्षेत्र में रखें जहां वह दूसरों से अलग रह सकें.

इंदौर: बच्चा चोर गिरोह में सामने आए दो डॉक्टर, सौदेबाजी में तय होता था कमीशन

गाइडलाइन में यह भी निर्देश दिए गए हैं कि विद्यालय आने वाले छात्र मास्क, फेस कवर पहनकर अलग-अलग रहे. विद्यालय में प्रवेश और निकासी के लिए एक से अधिक गेट हो. यदि व्यक्ति संक्रमित पाया जाता है तो परसर को डीश इंफेक्शन किया जाए. इन्हीं शर्तों के आधार पर विद्यालयों को खोलें के आदेश जारी किए गए हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें