इंदौर में दीवारों पर पोस्टर लगाकर फंसे 7 संस्थान, FIR दर्ज

Smart News Team, Last updated: Sun, 7th Mar 2021, 3:40 PM IST
  • इंदौर में दीवारों की सुंदरता बिगाड़ने को लेकर नगर निगम द्वारा सात संस्थानों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. इसमें हकीम से लेकर टेलीकॉम कंपनी तक शामिल है.
प्रशासन ने 18 भूमाफियाओं पर दर्ज की छह एफआईआर, 3250 करोड़ की जमीन पर था दखल (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इंदौर. इंदौर में दीवारों पर पोस्टर लगाने के मामले में निगम ने सात संस्थानों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है. निगम ने पोस्टर लगाकर दीवारों की सुंदरता बिगाड़ने के मामले में शान देसी हकीम दवाखाना, विनीत दीक्षित, राकेश काशीराम चंद्रवंशी नंदा नगर और कई लोगों के खिलाफ शिकायत की है. बताया जा रहा है कि इनमें से किसी ने सावरकर मार्केट गेट नंदलालपुरा पर पैम्फ्लेट लगाया था तो किसी ने सार्वजनिख शौचालय की दीवार पर विज्ञापन बोर्ड लगाया था. इसके साथ ही किसी ने पोल पर भी टेलीकॉम कंपनी का पैम्फ्लेट लगाया था.

इनके अलावा भी कई लोगों के खिलाफ इंदौर नगर निगम ने कार्रवाई की. नगर निगम द्वारा गीता भवन के आसपास सार्वजनिक शौचालय पर तिवारी सर की क्लास पर और टॉवर चौराहा क्षेत्र में अनिल सचदेव द्वारा प्रॉपर्टी से संबंधित बिना अनुमति के बोर्ड दीवारों पर लगाए गए, जिसे लेकर नगर निगम ने कड़ा एक्शन लिया. वहीं, दूसरी और फड़नीस कॉम्प्लेक्स के पास दिगंबर स्कूल के आगे शासकीय दीवार पर पोस्टर लगाने पर डॉ. बुरहानउद्दीन सैफी-सैफी हकीम क्लीनिक खातीवाला टैंक के खिलाफ भी नगर निगम ने एफआईआर दर्ज करवाई है.

13 भूमाफियाओं की संपत्ति होगी कुर्क, 3 हजार करोड़ से ज्यादा की जमीन पर है कब्जा

बता दें कि इंदौर शहर देश में स्वच्छता के मामले में नंबर वन पर आता है. ऐसे में यहां नगर निगम सफाई बरतने की भी पूरी कोशिश कर रहा है. लेकिन कई जगह दीवारों पर पोस्टर लगाए जा रहे हैं, जिसे लेकर इंदौर नगर निगम भी सख्ती बरतता हुआ दिखाई दे रहा है. इन सात संस्थानों पर कार्रवाई करने से पहले इंदौर नगर निगम ने एक डॉक्टर के खिलाफ भी दीवार पर पोस्टर लगाने को लेकर एफआईआर दर्ज की थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें