इंदौर: मॉडल पॉर्न फिल्म शूट मामला, एसआईटी ने कोर्ट में सौंपे आरोपियों के नाम

Smart News Team, Last updated: 07/08/2020 04:43 PM IST
इंदौर में बहूचर्चित पोर्न फिल्म शूट कर ब्लैकमैल मामले में एसआईटी टीम ने गिरोह में शामिल कई लोगों को चिन्हित कर उनके नाम बंद लिफाफे में हाईकोर्ट को सौंप दिए हैं । वेब सीरीज में काम दिलाने का झांसा लेकर मॉडल्स की पोर्न फिल्में शूट करने वाले गिरोह  की गिरफ्तारी के लिए पुलिस  छापेमारी कर रही है।
इंदौर पुलिस

दरअसल पिछले सप्ताह इंदौर शहर की एक मॉडल को झांसा देकर पोर्न फिल्म बनाने और फिर उसे अश्लील वेबसाइट पर डालने का मामला सामने आया था।इसके बाद शहर में हड़कंप मच गया। पुलिस ने जब जांच पड़ताल शुरू की तो मामला हाई प्रोफाइल निकला। धामनोद निवासी एक युवती ने साइबर सेल पुलिस को शिकायत दी कि वह इंदौर में मॉडलिंग करती है। दिसंबर 2019 में ओटीटी प्लेटफॉर्म पर बड़े बैनर में लॉन्च करने का बोलकर खुद को मुंबई में डायरेक्टर और प्रोड्यूसर बताने वाले बृजेंद्र सिंह ठाकुर ने उसे एरोड्रम रोड स्थित फार्म हाउस पर बुलाया था।

 युवती अपने कॉस्टिंग डायरेक्टर दोस्त मिलिंद के साथ वहां पहुंची थी। जहां बृजेंद्र ने ओटीटी प्लेटफॉर्म पर बेव सीरीज को रिलीज करने का वादा कर उसके साथ बोल्ड सीन शूट कर लिए। लेकिन फिल्म को बिना एडिट किए पोर्न साइट पर अपलोड कर दिया गया। फिल्म को चंद दिनों में 4 लाख से ज्यादा लोगों ने देख लिया। जिसके बार उसकी परिचित लोगों द्वारा इसकी जानकारी मिली तो घबराई मॉडल ने बृजेंद्र और मिलिंद से संपर्क किया लेकिन दोनों ने ही उससे पल्ला झाड़ लिया। इसके बाद उसने फिल्म बनाने वाले डायरेक्टर, कॉस्टिंग डायरेक्टर सहित 5 लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

पुलिस सबूत जुटाने के लिए इस हाई प्रोफाइल मामले से जुड़े जेल में बंद आरोपी गजेंद्र उर्फ गोवर्धन उर्फ गज्जू चंद्रावत का पुलिस ने कोर्ट से प्रोडक्शन वारंट जारी करवाकर गुरुवार को रिमांड पर ले लिया। पुलिस को उम्मीद है कि रिमांड में आए आरोपी गजेंद्र से कई अहम जानकारी मिल सकती हैं। गजेंद्र को करीब तीन महीने पहले सराफा पुलिस ने एक होटल में दबिश देकर पकड़ा था। ये एक व्यापारी को उज्बेकिस्तान की मॉडल (सेक्स रैकेट से जुड़ी) सप्लाय करने गया था। गजेंद्र ने सबसे पहले पुलिस में शिकायत करने वाली मॉडल के साथ पोर्न मूवी में बतौर लीड एक्टर काम किया था। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार आरोपी अंकित चावड़ा और मिलिंद डावर ने कबूला कि इस रैकेट के तार इंदौर से मुंबई तक के लोगों से जुड़े हैं। गिरोह का सरगना बृजेंद्र गुर्जर, अजय गोयल, योगेंद्र जाट, सुनील जैन व अन्य की तलाश जारी है।

अन्य खबरें