इंदौर: जीआइएस तकनीक पर आधारित शहर में छह नए स्मार्ट ग्रिड होंगे स्थापित

Smart News Team, Last updated: Wed, 9th Dec 2020, 6:55 PM IST
मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी अब जीआइएस तकनीक के स्मार्ट ग्रिड स्थापित करेंगी। इसके तहत इंदौर में तीन, खंडवा में दो एवं रतलाम में एक स्मार्ट ग्रिड बनेंगे। वहीं इंदौर में यह ग्रिड एक राऊ के पास, दूसरी सदर बाजार क्षेत्र में और तीसरी ग्रीन पार्क धार रोड पर स्थापित होंगे।
फाईल फोट

इंदौर: क्षेत्रों में बिजली की बढ़ती मांग को पूरी की जा सके इसके मद्देनजर मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी अब जीआइएस तकनीक पर आधारित स्मार्ट ग्रिड स्थापित करेंगी। यह ग्रिड इंदौर में तीन, खंडवा में दो एवं रतलाम में एक की संख्या में बनेंगे। बता दें दो माह में इन ग्रिडों का काम शुरू हो जाएगा। आठ-आठ मेगावॉट क्षमता वाली इस ग्रिड को कंपनी शहरी क्षेत्रों में पुरानी तकनीक वाली ग्रिडों की जगह जीआइएस ग्रिड स्थापित कर रही है।

दरअसल शहरों में बिजली की बढ़ती मांग को पूरा करने में इन ग्रीड की भूमिका अहम होगीं। वहीं इंदौर शहर में तीन जीआइएस ग्रिड बनेंगे, जिनमें से एक राऊ के पास, दूसरी सदर बाजार क्षेत्र में और तीसरी ग्रीन पार्क धार रोड पर स्थापित होंगे। बता दें कम जमीन पर बनने वाले यह ग्रिड मात्र 700-800 वर्ग फीट में बन जाते हैं। गैस इन्सुलेशन सिस्टम वाले ये बिजली ग्रिड कम जगह में बन जाता है। इंदौर के अलावा खंडवा में दो एवं रतलाम में एक स्मार्ट ग्रिड बनेंगे।

इंदौर में सिरफिरे ने रात 3 बजे कार में आग लगाई, पीछे खड़ी ऑटो भी जली

वहीं मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध निदेशक द्वारा क्षेत्र के 15 जिलों के इंजीनियरों को कंपनी की भविष्य की अन्य योजनाओं को लेकर तैयारी करने के निर्देश दिए हैं। इसके तहत इंदौर व उज्जैन संभाग के कंपनी क्षेत्र के सभी 110 शहरों, कस्बों में आंकलन रहित बिल यानी शत-प्रतिशत पीएमआर, एएमआर वाले बिल ही जाएंगे। जनवरी से इंदौर व उज्जैन संभागीय मुख्यालयों में नए साल में शत-प्रतिशत बिल वास्तविक रीडिंग वाले ही दिए जाएंगे। 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें