इंदौर में कोरोनावायरस को लेकर फिर होंगे सर्वे, जांची जाएगी रोग-प्रतिरोधक क्षमता

Smart News Team, Last updated: Thu, 22nd Oct 2020, 8:05 PM IST
  • इंदौर में कोरोनावायरस को रोकने के लिए एक नया फैसला लिया है. दरअसल, शहर में नवंबर में एक बार फिर से सर्वे होगा. शासन, प्रशासन और मेडिकल की टीमें शहरवासियों की कोरोना के प्रति रोग प्रतिरोधक क्षमता की जांच करेंगे.
इंदौर में होगी कोरोना के प्रति रोग प्रतिरोधक क्षमता की जांच

 इंदौर: शहर में कोरोनावायरस के केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं. ऐसे में प्रशासन ने वायरस को रोकने के लिए एक नया फैसला लिया है. दरअसल, शहर में नवंबर में एक बार फिर से सर्वे होगा. शासन, प्रशासन और मेडिकल की टीमें शहरवासियों की कोरोना के प्रति रोग प्रतिरोधक क्षमता की जांच करेंगे. इस बात का पता लगाने की कोशिश होगी कि कितने प्रतिशत लोगों के शरीर में कोरोना से लड़ने वाली एंटीबॉडी विकसित हो चुकी है. बता दें, इससे पहले जुलाई में भी एक ऐसा ही सर्वे किया जा चुका है. उस समय 85 वार्डों में टीमें भेजकर करीब सात हजार लोगों की सैंपलिंग की गई थी. सर्वे के परिणाम में 7.72 प्रतिशत आबादी के संक्रमित होने का अनुमान लगाया गया था. यानी करीब पौने दो लाख लोगों को इंदौर में संक्रमण अपनी चपेट में ले चुका था.

मल्टी ब्रांड गारमेंट स्टोर ड्रेस लैंड में सुरक्षित शॉपिंग, ऐसे दिखे स्टाइलिश कूल

वहीं, मेडिकल कॉलेज सूत्रों के मुताबिक नवंबर के दूसरे पखवाड़े में सर्वे शुरू करने की संभावना है. जनवरी के पहले पखवाड़े तक इसके परिणाम जारी कर दिए जाएंगे. बता दें, बुधवार को कोरोना संदिग्ध 4774 मरीजों के सैंपल जांचे गए और 242 मरीज पॉजिटिव आए. शहर में अब तक 3 लाख 61 हजार 93 सैंपलों की जांच की जा चुकी हैं इनमें से 32532 पॉजिटिव पाए गए. बुधवार को 98 मरीज हॉस्पिटल से डिस्चार्ज किए गए. अब तक स्वस्थ होकर घर जाने वालों की संख्या 28 हजार 350 हो चुकी है. फिलहाल 3515 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें