जीजा-साला चला रहे केमिकल से कत्था बनाने का कारखाना, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 02/03/2021 09:09 PM IST
  • इंदौर में केमिकल से कत्था बनाने वाली फैक्टरी का भंडाफोड़ हुआ है. यह फैक्टरी जीजा-साला मिलकर चला रहे थे. हालांकि, हैरानी की बात यह है कि फैक्टरी में पेटी देसी शराब भी मिली है.
सांकेतिक तस्वीर

इंदौर. नकली चीजें बनाने को लेकर लगभग हर दिन खुलासा होता है. हाल ही में केमिकल से कत्था बनाने का मामला सामने आया है. यह फर्जीवाड़ा जीजा-साले द्वारा चलाया जा रहा था. साला महाराष्ट्र के जलगांव में है और जीजा उसके नाम पर इंदौर में कत्था पेस्ट बनाने का कारखाना चला रहा था. वह भी केमिकल मिलाकर जो मानव स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह भी हो सकता है.

इस इंडस्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए खाद्य और औषधि प्रशासन (एफडीए) ने सोमवार को शहर के देवास नाका पर पांचाल कम्पाउंड में बालाजी इंडस्ट्री में छापेमारी की. हालांकि, आश्चर्य की बात है कि कारखाने में छह पेटी देसी शराब भी मिली. बता दें, यह कारखाना जलगांव में रह रहे साले मोहन मंडोरे के नाम पर है. हालांकि, इंदौर में उसका जीजा नीरज बिसानी कारखाना चला रहा है.

शख्स ने ऑनलाइन बुक किया था फोन, पार्सल में निकला चार्जर

कारखाने में भारी गंदगी के बीच केमिकल मिलाकर कत्था पेस्ट बनाया जा रहा था. चारों ओर कच्चा माल और सामान अस्त-व्यस्त पड़ा था. इस कारखाने में पोटेशियम मेटा बायसल्फेट, चिमोलियम पाउडर, टाइटेनियम डाइऑक्साइड आदि केमिकल से मिलाकर कत्थे का पेस्ट बनाया जा रहा था. यह पेस्ट प्लास्टिक के 100-100 ग्राम पाउच में पैक किया जा रहा था. वहीं, दमयंती और बहार ब्रांड नाम से यह कत्था पेस्ट पैक किया गया था. मामले को लेकर खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने यहां से करीब पांच लाख रुपये का सामान जब्त किया. इसमें कत्था, कत्था पेस्ट, चिमोलियम पाउडर, पोटेशियम मेटा बायसल्फेट, मिनरल पाउडर, अलग-अलग ब्रांड का कत्था भी शामिल है जांच के लिए यहां से कत्था, केमिकल, पाउडर आदि सामग्री के 10 नमूने भी लिए गए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें