इंदौर: डुप्लीकेट घड़ी को ब्रांडेड बताकर बेच रहे थे व्यापारी, 20 लाख का माल पकड़ा

Smart News Team, Last updated: 03/03/2021 04:25 PM IST
  • इंदौर में दो व्यापारियों द्वारा फर्स्ट कॉपी और डुप्लीकेट घड़ियों को ब्रांडेड कंपनी का नाम देकर बेचने का मामला सामने आया है. पुलिस मामले को लेकर कॉपीराइट के तहत मुकदमा दर्ज किया है.
सांकेतिक तस्वीर

इंदौर. इंदौर में अपराधों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है. कभी चोरी तो कभी लूटपाट, नकली सामानों का निर्माण और बलात्कार जैसे घटनाएं सामने आती हैं. हाल ही में इंदौर में फर्स्ट कॉपी और डुप्लिकेट घड़ियों को ब्रांडेड बताते हुए बेचने का मामला सामने आया है. इस मामले को लेकर इंदौर पुलिस ने दो व्यापारियों के घर पर दबिश भी है. मामले पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने करीब 20 लाख की 1036 घड़ियां जब्त की हैं.

इंदौर में दो व्यापारी सरेआम फर्स्ट कॉपी और डुप्लीकेट घड़ियों को ब्रांडेड कंपनी की बताकर बेच रहे थे. इस बारे में बात करते हुए एमजी रोड टीआई डीवीएस नागर ने बताया कि इलाके में दो दुकानदारों के खिलाफ सूचना मिली थी कि वे जी शाॅक ओमेगा कंपनी की डुप्लीकेट घड़ियां ब्रांडेड बताकर बेच रहे हैं. शिकायत के आधार पर पुलिस ने व्यापारियों के यहां दबिश दी.

शादी के नाम पर युवती से बनाए संबंध, मना करने पर पीड़िता ने लगाया रेप का आरोप

पुलिस ने कार्रवाई के दौरान दोनों व्यापारियों के पास से करीब 1036 डुप्लीकेट घड़ियां बरामद कीं. पुलिस के मुताबिक इन सभी घड़ियों की कीमत लगभग 20 लाख 72 हजार रुपए बतायी जा रही है. मामले को लेकर पुलिस ने कॉपीराइट एक्ट के तहत केस दर्ज किया है. अभी आराेपियाें के नाम पता नहीं चले हैं. वहीं, पुलिस का शंका है कि दुकानदारों से और भी लोगों की लिंक जुड़ा हो सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें