एक्टिव मोड में नजर आए तुलसी सिलावट, बोले-कोरोना को लेकर अभी सुधार की जरूरत

Smart News Team, Last updated: Mon, 30th Nov 2020, 10:47 PM IST
  • मध्य प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव को लेकर 29 सितंबर से लगी आचार संहिता के बाद से पूर्व मंत्री तुलसी सिलावट जनता के कामों से दूर थे. सांवेर विधानसभा सीट से रिकार्ड 50 हजार से ज्यादा मतों से जीत करने वाले सिलावट पूरे दो महीने बाद सक्रिय नजर आए. उन्होंने अधिकारियों के साथ कोरोना को लेकर पहली बैठक की.
तुलसी सिलावट

इंदौर. मध्य प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव को लेकर 29 सितंबर से लगी आचार संहिता के बाद से पूर्व मंत्री तुलसी सिलावट जनता के कामों से दूर होकर चुनावी रण में उतर गए थे. सिलावट ने सांवेर विधानसभा सीट से रिकार्ड 50 हजार से ज्यादा मतों से जीत भी दर्ज की थी, लेकिन इसके बाद भी वह बहुत कम नजर आ रहे थे. सिलावट पूरे दो महीने बाद 29 नवंबर को एक्टिव मोड में नजर आए और पहली बैठक कोरोना को लेकर की. 

बैठक के बाद उन्होंने अधिकारियों से काम में तेजी लाने की जरूरत बताई. सिलावट ने कहा कि उनका ग्रामीण इलाकों में कई दिनों से बैठक करने का चल रहा था. कोरोना को लेकर भी समीक्षा करनी थी. स्वास्थ्य सुविधा में बढ़ोतरी हो, जो सांवेर अस्पताल में कमियां हैं, उसकी समीक्षा की है. यहां पर सुधार की बहुत आवश्यकता है. कमियां बहुत हैं, जिन्हें दूर करने की जवाबदारी उनकी और शिवराज सरकार की है. 

आयोजन के हिसाब से पहनती थी कपड़े, फिर गहने चुराकर हो जाती थी लापता

सिलावट ने कहा कि 23 मार्च को शपथ लेने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने पहली बैठक कोरोना को लेकर वल्लभ भवन में की थी. उस दिन से आज तक मध्य प्रदेश के सभी जिलों की समीक्षा लगातार की जा रही है. यह बड़ा संकट है. हमें आत्मनिर्भर बनना पड़ेगा. बिना डरे ही इस बीमारी से जीत सकते हैं. जब तक वैक्सीन नहीं आती, हमें मास्क लगाना है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें