जिम में छेड़खानी करने वाले को महिला ने ऐसे सिखाया सबक, वीडियो वायरल

Atul Gupta, Last updated: Sat, 30th Oct 2021, 3:18 PM IST
  • कई महीनों से जिम में महिला को घूरने वाले शख्स को महिला ने ऐसा सबक सिखाया जिसे ना सिर्फ पसंद किया जा रहा है बल्कि दुनियाभर के एक करोड़ बीस लाख लोग इसे देख चुके हैं.
जिम में महिला से छेड़छाड़ (फोटो- सोशल मीडिया)

इंदौर: महिलाओं के खिलाफ उत्पीड़न के मामले पूरी दुनिया में एक से हैं. गंदी नीयत वाले लोग दुनिया में हर जगह पाए जाते हैं जो महिलाओं को सिर्फ और सिर्फ उपभोग की वस्तु से ज्यादा कुछ और नहीं समझते. अक्सर महिलाएं ऐसे लोगों को इग्नोर कर देती हैं लेकिन कुछ महिलाएं ऐसी होती हैं जो ना सिर्फ छेड़छाड़ का विरोध करती हैं बल्कि सिरफिरे को सही सबक भी सिखाती हैं. ऐसी ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसमें एक महिला जिम में अपने साथ हो रही छेड़छाड़ की शिकायत कर रही है. इस वीडियो को अबतक 18 मिलियन व्यू मिल चुके हैं. दरअसल चेल्सी ग्लीसन नामक महिला जो जस्ट चेल्सी के नाम से टिकटाक पर वीडियो बनाती है उसने बीइंग ए फीमेल इस फन के टाइटल से एक वीडियो डाला जिसमें क्रंच फिटनेस नामक जिम में एक व्यक्ति उसके बात करने की कोशिश करते दिख रहा है और फिर उसके चेहरे के एकदम करीब आ जाता है.

चेल्सी ने एक न्यूज एंजेसी को बताया है कि वो इस व्यक्ति को बिल्कुल नही जानती है और ये व्यक्ति उसको लगातार चार पांच महीने से परेशान कर रहा है. चेल्सी यह भी बताती है कि वह व्यक्ति उसके लुक को लेकर लोगों से गॉसिप भी करता है और जब वह जिम में अकेली होती है उसके करीब आने की कोशिश करता है. वीडियो में चेल्सी की आवाज भी है कि मेरे पास मत आओ. चेल्सी का वीडियो वायरल होने के बाद क्रंच फिटनेस जिम ने उस व्यक्ति को बैन कर दिया है. साथ ही यह भी कहा कि अगर चेल्सी उनसे पहले शिकायत करती तो वह पहले ही कड़ा कदम उठा चुके होते.

लोगों ने चेल्सी के इस वीडियो को न सिर्फ देखा बल्कि उसके पक्ष में टिप्पणियां भी की हैं. एक व्यूवर ने लिखा है कि ऐसी घटना बेहद निदंनीय है। एक और कमेंट्स है कि जिम वाले ऐसा बिल्कुल नहीं चाहते हैं. चेल्सी का कहना है कि उसने यह वीडियो सिर्फ इसीलिए शेयर किया है ताकि लोग ऐसे लोगों से अवेयर रहें और किसी और साथ ऐसी घटना न हो जैसी उसके साथ हुई. वैसे यह पहली घटना नहीं जिसमें किसी व्यक्ति को जिम ने प्रतिबंधित किया है. लेकिन इस तरह की घटनाओं पर प्रतिक्रिया जरूरी है ताकि महिलाओं के लो एक सुरक्षित समाज की स्थापना हो सके.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें