इंदौर में मदिरा प्रेमियों के लिए राहत भरी खबर,आज से खुलेंगी शराब की दुकानें

Smart News Team, Last updated: Tue, 1st Jun 2021, 8:52 AM IST
  • इंदौर के मदिरा प्रेमियों को मिली खुशखबरी, आज से खुली शराब दुकाने। सोमवार देर रात जारी हुए आदेश के बाद शराब दुकान संचालकों को निश्चित समय मे दुकाने खोलकर नियमो का पालन कर विक्रय करना होगा
इंदौर में शराब की दुकानें खोलने की मिली अनुमति .

इंदौर. इंदौर में जिला प्रशासन द्वारा क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक के बाद मंगलवार यानी आज शुरू की जाने वाली सेवाओं और प्रतिबन्धों के संबंध में एक विस्तारित आदेश जारी किया गया है. जिसका पालन सभी को करना जरूरी है लेकिन इस आदेश के दौरान शहर और जिले के मदिरा प्रेमी के लिए खुश होने वाली खबर है.

 

इस आदेश के बाद के मदिरा प्रेमी खुश हो गये है और कई लोग तो सोशल मीडिया पर अपनी खुशी भी जाहिर करने लगे. दरअसल, आबकारी विभाग जिला इंदौर द्वारा जारी किए गए आदेश के हिसाब से हर रोज सुबह 8 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक देशी व अंग्रेजी शराब की दुकान खुल सकेंगी.

इंदौर में ब्लैक फंगस के इलाज में उपयोगी इंजेक्शन का होगा उत्पादन, मरीजों को राहत

 बता दे कि पूर्व आंकड़ो के मुताबिक प्रदेश सरकार को राजस्व का एक बड़ा हिस्सा शराब के विक्रय से आता है. लिहाजा, इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि जल्द ही प्रदेश के कई हिस्सों में मदिरा विक्रय शुरू हो सकेगा.

फिलहाल, इंदौर के लिहाज से जो आदेश जारी किए गए है उसके मुताबिक सभी देशी और विदेशी शराब की दुकान सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक खुल सकेंगी. हालांकि किराना सहित फल व सब्जियों को लेकर समय की पाबंदी होने व मदिरा के लिए दी जा रही छूट पर सवाल भी उठ रहे हैं.

कोरोना संकट के बीच MP के हजारों जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर, ये हैं मांग

शराब दुकाने सुबह 8 बजे से शाम बजे तक खुली रहेगी. वही मदिरा की सभी दुकानों में सोशल डिस्टेसिंग एवं पर्सनल डिस्टेसिंग का अनिवार्य रूप से पालन किया जाएगा. इस काम के लिए सभी दुकानों पर दो-दो सिक्योरिटी गार्ड तैनात किया जाना अनिवार्य होगा.

वहीं शराब दुकानों पर ग्राहकों के बीच 2 गज की दूरी, जरूरी होगी और इसका पालन गोल घेरा बनाकर सिक्योरिटी गार्ड द्वारा कराया जाएगा. शराब दुकानों के सैल्समैन को मास्क और हैण्ड ग्लव्स का इस्तेमाल करना अनिवार्य होगा. 

 

इसके अलावा कोरोना का खतरा कम हो इसके लिए शराब विक्रय के कैशलेस ट्रांसजेक्शन को बढ़ावा देना विक्रेता की जिम्मेदारी होगी और ग्राहकों से मिलने वाली नगद राशि को एक अलग कैश बॉक्स रखकर उसमें रखे रुपयों को सेनेटाईज करना जरूरी होगा.

मदिरा प्रेमियों व ग्राहकों को नगद वापस देने के लिए अलग से कैश बॉक्स में रखी सेनेटाईज की हुई राशि से ही भुगतान किया जाना चाहिए.फिलहाल, इस आदेश के बाद एक बार इंदौर शहर व जिले के शराब दुकानों पर लंबी कतारों का सिलसिला पिछले साल के अनलॉक की तरह ही देखने को मिल सकती है. ऐसे में आबकारी विभाग और दुकान संचालकों के लिए व्यवस्था संभालना मुश्किल जरूर होगा. हालांकि, लंबे समय से बंद पड़ी शराब दुकानों के खुलने से मदिरा प्रेमियों में खुशी व्याप्त है.


आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें