MY अस्पताल में महिला ने 3 बेटियों को दिया जन्म, 1 की हालत गंभीर

Smart News Team, Last updated: 23/02/2021 05:31 PM IST
  • इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल में रविवार की रात एक महिला ने तीन बच्चियों को जन्म दिया है. वहीं, प्री-मेच्योर डिलीवरी होने के कारण एक नवजा बच्ची की हालत गंभीर है, जिसे वेंटिलेटर पर रखा गया है.
MYH अस्पताल में लापरवाही का मामला फिर आया सामने

इंदौर के एमवाय अस्पातल में रविवार की रात एक महिला ने तीन नवजात को जन्म दिया. खास बात तो यह है कि महिला की करीब 15 मिनट में ही सामान्य डिलीवरी हुई. महिला ने तीन बच्चों को जन्म दिया, जिसमें एक बच्ची की प्री-मैच्योर प्रसूति होने के कारण हालत गंभीर बनी हुई है. बच्ची को वेंटिलेटर पर रखा गया है. वहीं, बाकी दोनों बच्चियों की हालत बिल्कुल सामान्य बनी हुई है. महिला का नाम राधाबाई बताया जा रहा है, जिसकी उम्र करीब 19 वर्ष है.

महिला ने इंदौर के महाराजा यशवंतराव (एमवाय) अस्पताल में तीन बच्चों को जन्म दिया. गरीब परिवार की राधाबाई को दर्द होने पर परिजन रात में पीसी सेठी अस्पताल लेकर पहुंचे थे. लेकिन चेकअप के बाद डॉक्टरों ने उसे एमवायएच रैफर कर दिया था. ऐसे में महिला रात सवा 10 बजे एमवायएच पहुंची, जहां स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. सुमित्रा यादव ने महिला को तत्काल ही डिलीवरी के लिए रूम में शिफ्ट करवाया. डॉ. यादव ने बताया कि नॉर्मल तरीके से डिलीवरी करवाने की प्रक्रिया शुरू की गई और 15 मिनट में ही डिलीवरी कर दी गई.

450 एकड़ में बनेगा इंटरनेशनल मेगा फर्नीचर क्लस्टर, हजारों को मिलेगा रोजगार

महिला ने पहले नवजात को 10.37 बजे, दूसरे बच्चे को 10.43 बजे और तीसरे बच्चे को 10. 47 बजे जन्म दिया. इस बारे में बात करते हुए डॉ. सुमित्रा यादव ने बताया कि वैसे तो सामान्यतौर पर 40 हफ्ते पूरे होने पर डिलीवरी होती है, लेकिन राधाबाई की प्री मैच्योर डिलीवरी हुई है. 28 हफ्ते में ही उसकी प्रसूति होने गई है, जिसके कारण नवजातों को विशेष देखभाल की जरूरत है. दो बच्चियां तो सामान्य हैं, लेकिन एक की हालत नाजुक बनी हुई है. डॉक्टर ने बताया कि महिला एनिमिक थी, जिससे रक्त का बहाव भी ज्यादा होता है. ऐसे उस महिला को खून भी चढ़ाना पड़ा. हालांकि, अभी महिला की हालत ठीक है.

पुलिस से बचने के लिए भू-माफियाओं ने मिटाए सबूत, घर छोड़ हुए फरार

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें