इंदौर: बारिश से उफान पर नाले में गिरी एक्टिवा, एक भाई की डूबने से मौत

Smart News Team, Last updated: 24/08/2020 07:31 AM IST
  • सचिन और सहवाग नाम के दो भाई एक्टिवा शिव पिता को रिसीव करने जा रहे थे मांगलिया उफनाते नाले को पार करते समय एक्टिवा समेत बहे सचिन और सहवाग सचिन सहवाग के पिता भोपाल की एक कंपनी में चलाते हैं टैंकर
बरसात मे डूबा इंदौर

इंदौर। इंदौर के मांगलिया पुलिस चौकी क्षेत्र के श्रीनाथ टाउनशिप के ढाबली गांव के रहने वाले सहवाग की नाले के तेज बहाव के पानी में बहने से मौत हो गई जबकि किसी तरह सचिन ने तैर कर अपनी जान बचाई.

जानकारी पर पहुंची पुलिस व एनडीआरएफ की टीम ने रात भर सर्च कर शव को बरामद कर लिया. इसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

शुक्रवार शाम से मूसलाधार बारिश के कारण कई जगह जलजमाव हो गया था. ऐसी ही स्थिति मांगलिया-ढाबली मार्ग पर भी थी.

मांगलिया चौकी प्रभारी अजय गुर्जर ने बताया कि भगवान सिंह भोपाल की बीपीसीएल कंपनी मे टैंकर चलाते हैं. वे शुक्रवार को इंदौर आए थे. रास्ता खराब होने की वजह से उन्होंने बेटों को फोन लगाकर मांगलिया बुलाया.

बेटे एक्टिवा से जा रहे थे.रास्ते में पड़ने वाला नाला उफान पर था. पानी का अंदाजा नहीं लगा पाने के कारण दोनों बड़े नाले में एक्टिवा से उतर गए.जिसके बाद पानी के तेज बहाव में दोनों बह गए.

पुलिस ने बताया कि सचिन पीछे बैठा होने के कारण बच कर टापू पर आ गया, लेकिन हेलमेट पहने होने के कारण सहवाग बह गया. रातभर उसकी सर्चिंग चलती रही.

सुबह पानी कम होने पर उसका शव सांवेर थाना क्षेत्र में खान नदी के पास मिला. दोपहर में उसका पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजन को सौंप दिया गया.

पुलिस ने मांगलिया-ढाबली मार्ग पर कांटे लगाकर रोका था मार्ग

बताया जा रहा है कि पुलिस ने रास्ता बंद करने के लिए पत्थर और कांटे लगा दिए थे, लेकिन दोनों भाई उसे हटाकर निकल गए थे. पुलिस इसकी भी जांच कर रही है.

बैरियर लगाकर मार्ग नहीं रोके जाने पर लोगों ने विरोध जताया है. कांटे या पेड़ की डालियां रखने से लोगों को खतरे का अहसास कम होता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें