शायर राहत इंदौरी के निधन के बाद प्रशंसकों में मातम, ट्वीट कर जता रहे संवेदनाएं

Smart News Team, Last updated: 11/08/2020 07:37 PM IST
  • महशूर शायर डॉ.राहत इंदौरी की पहले तो खबर आई कि वो कोरोना पॉजिटीव हो गए है. खुद उन्होनें ट्विट कर यह जानकारी दी. अंत में सोशल साइट्स पर खैरियत पूछने के साथ वो अलविदा कह गए.
राहत इंदौरी

मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने से आज शाम निधन हो गया. निधन की खबर के बाद पूरी दुनियां में मातम छाया हुआ नजर आ रहा है. देश ही नहीं सात समंदर पार तक इंदौरी के प्रशंसकों की एक लम्बी फेहरिस्त है. वहीं देश प्रधानमंंत्री से लेकर एमपी के मुख्यमंत्री ने उनके निधन पर शोक संवेदनाएं जाहिर की. कई प्रसिद्ध कवि, शायर और लेखकों ने भी इंदौरी के निधन पर संवेदना जाहिर कर उनकों याद किया है .

श्री अरबिंदो अस्पताल के डॉक्टर ने बताया कि राहत इंदौरी का निधन अस्पताल में हुआ है. उन्हें आज दिल का दौरा पड़ा और उन्हें बचाया नहीं जा सका. उन्हें कोरोना संक्रमित होने के बाद रविवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

कवि कुमार विश्वास ने कहा कि 'हे ईश्वर ! बेहद दुखद ! इतनी बेबाक़ ज़िंदगी और ऐसा तरंगित शब्द-सागर इतनी ख़ामोशी से विदा होगा, कभी नहीं सोचा था ! शायरी के मेरे सफ़र और काव्य-जीवन के ठहाकेदार क़िस्सों का एक बेहद ज़िंदादिल हमसफ़र हाथ छुड़ा कर चला गया. उन्होंने कहा, ''हमारे मुँह से जो निकले वहीं सदाक़त है. हमारे मुँह में तुम्हारी ज़ुबान थोड़ी है ? जो आज साहिबे मसनद हैं कल नहीं होंगे. किराएदार है ज़ाती मकान थोड़ी है...?''

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राहत इंदौरी के निधन पर दुख जताया. उन्होंने कहा, “अब ना मैं हूँ ना बाक़ी हैं ज़माने मेरे, फिर भी मशहूर हैं शहरों में फ़साने मेरे...” अलविदा, राहत इंदौरी साहब.

 

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा कि मक़बूल शायर राहत इंदौरी जी के गुज़र जाने की खबर से मुझे काफ़ी दुख हुआ है. उर्दू अदब के वे क़द्दावर शख़्सियत थे. अपनी यादगार शायरी से उन्होंने एक अमिट छाप लोगों के दिलों पर छोड़ी है. आज साहित्य जगत को बड़ा नुक़सान हुआ है. दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके चाहने वालों के साथ हैं.

शायर और कांग्रेस नेता इमरान प्रतापगढ़ी ने ट्वीट कर कहा, ''जनाज़े पर मेरे लिख देना यारो, मुहब्बत करने वाला जा रहा है !! अलविदा राहत साहब.''

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा कि अलविदा राहत इंदौरी साहब! ... देश की एक बेबाक़ आवाज़ चली गई. 'सभी का ख़ून है शामिल यहां की मिट्टी में, किसी के बाप का हिंदुस्तान थोड़ी है...'उनका जाना हम सबके लिए बेहद दुःखद है.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राहत इंदौरी के निधन पर दुख जताया है. उन्होंने कहा, ''...राह के पत्थर से बढ़ कर कुछ नहीं हैं मंज़िलें, रास्तें आवाज़ देते हैं सफ़र जारी रखो, एक ही नदी के हैं ये दो किनारे दोस्तों, दोस्ताना ज़िंदगी से मौत से यारी रखो, राहत जी आप यूँ हमें छोड़ कर जाएंगे, सोचा न था. आप जिस दुनिया में भी हों, महफूज़ रहें, सफर जारी रहे.''

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें