चर्चित वेब सीरीज अभय 2 को लेकर इंदौर में विवाद, सिरीज़ को बैन किए जाने की मांग

Smart News Team, Last updated: 22/08/2020 10:00 AM IST
  • क्रांतिकारी खुदीराम की बोस की तस्वीर थाने में हिस्ट्रीशीटरों की जगह लगी हुई दिखाई गई वेब सीरीज के दूसरे पाठ के 27 मिनट 30 सेकेंड पर दर्शाए सीन पर विवाद क्रांतिकारी परिवारों से जुड़े लोगों ने इस दृश्य पर जताया विरोध
अभय 2 का विवादित सीन

इंदौर। कोरोना महामारी के चलते सिनेमाघर बंद पड़े हुए हैं. इसके चलते फिल्म इंडस्ट्री ने अपनी फिल्मों को दर्शकों तक पहुंचाने के लिए नायाब तरीका ढूंढ लिया है. फिल्म इंडस्ट्री अपनी नई फिल्मों व वेब सीरीजों को अलग-अलग चैनलों पर रिलीज कर दर्शकों तक पहुंचा रही है.

हाल ही में रिलीज हुई वेब सीरीज अभय 2 भी विवाद के घेरे में हैं. इस सीरीज को लेकर लोगों ने विरोध जताया है.

दरअसल हाल ही में रिलीज हुई वेब सीरीज अभय 2 में शहीद खुदीराम बोस की तस्वीर को लेकर विवाद खड़ा हो गया है. दरअसल वेब सीरीज के दूसरे पार्ट के 27 मिनट 30 सेकेंड पर एक सीन दर्शाया गया है जिसमें खुदीराम बोस की तस्वीर एक थाने में लटकी हुई दिखाई दे रही है.

यह तस्वीर उस जगह टँगी दिखाई गई है जहां हिस्ट्रीशीटर की तस्वीर लगाई जाती है. ऐसे में इस सीन को लेकर विवाद खड़ा हो गया है. इंदौर में क्रांतिकारी परिवारों से जुड़े लोग इसे खुदीराम बोस का अपमान मान रहे हैं.

उन्होंने कहा कि खुदीराम बोस ने देश को आजाद कराने में अपनी अहम भूमिका लगाई है. कक्षा नौवीं के बाद पढ़ाई छोड़ वह स्वदेशी आंदोलन में कूद पड़े. मात्र 19 साल की उम्र में ही उन्होंने देश की आजादी के लिए अपनी जान गवा दी.

ऐसे अमर बलिदानी को हिस्ट्रीशीटर के स्थान पर दिखाया जाना उनका अपमान है. इंदौर के लोगों ने इस अपमान के बदले फिल्म निर्माता के ऊपर कार्यवाही किए जाने की मांग की है.

इन दौरान शहीद चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, तात्या टोपे, शहादत खान समेत कई शहीदों के परिजनों अभय 2 फिल्म सहित फिल्म निर्माता का भी विरोध किया है. उन्होंने इसे शहीदों का अपमान करना बताया है. उन्होंने अपमान करने वाले फिल्म निर्माता के खिलाफ कार्यवाही किए जाने की मांग की.इस दौरान लोगों ने वेब सीरीज को बैन करने की भी मांग की है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें