Diwali 2021: जानिए क्या होते हैं ग्रीन पटाखे जो इस दिवाली हवा में नहीं घोलेंगे जहर

Deepakshi Sharma, Last updated: Wed, 3rd Nov 2021, 11:45 AM IST
  • दिवाली का त्योहार 4 नवबंर यानी कल मनाया जाने वाला है. दिवाली के मौके पर कई राज्यों ने पटाखों पर जहां बैन लगा दिया है. वहीं, इन सबके बीच जानिए क्यों प्रसिद्ध हो रहे हैं ग्रीन पटाखे, जिसकी कई राज्यों ने दी है परमिशन.
जानिए क्या होते हैं ग्रीन पटाखे जो वातावरण को रखते हैं सुरक्षित

इंदौर. दिवाली के दौरान लोग बहुत सारे पटाखे फोड़ना पसंद करते हैं, लेकिन इससे पार्यवरण को बहुत हानि पहुंचती है उसकी भरपाई तुरंत नहीं हो सकती है. ऐसे में प्रदूषण के खतरे को देखते हुए कई राज्यों में पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है, लेकिन ग्रीन पटाखे बेचने और उसके इस्तेमाल की अनुमति कुछ राज्यों को दे दी गई है. ऐसा इसीलिए क्योंकि ये पटाखे बाकी पटाखों के मुकाबले कम प्रदूषण फैलाने का काम करते हैं.

आइए जानते हैं क्या होते ग्रीन पटाखे?

ग्रीन पटाखे साइज में छोटे होते हैं. साथ ही इन्हें बनाने के लिए जो कच्चा माल होता है वो भी कम इस्तेमाल होता है. इसके अंदर पार्टिक्यूलेट मैटर 20 प्रतिशत निकलता है. जबकि 10 प्रतिशत गैसें भरी होत है. ये गैसें पटाखे की संरचना पर आधारित होती हैं. ग्रीन पटाखों के बॉक्स पर बने क्यूआर कोड को NEERI नाम के एक ऐप से स्कैन करके इनकी पहचान आसानी से हो सकती है.

Dhanteras 2021: धनतेरस से पंचदिवसीय दीपोत्सव की शुरुआत, जानें दिवाली, भाई दूज और गोवर्धन पूजा का मुहूर्त

शरीर को ऐसे नुकसान पहुंचाता है पार्टिक्यूलेट मैटर

पटाखों से बाहर निकलने वाले पार्टिक्यूलेट मैटर शरीर के अंदर प्रवेश कर जाते हैं. फेफडों में भी प्रदूषण चला जाता है. ऐसे में हार्ट डिसीज या अस्थमा जैसी बीमारियों से जूझ रहे लोगों के लिए काफी नुकसानदायक साबित हो सकता है. इतना ही नहीं पटाखों में मौजूद केमिकल एलिमेंट्स भी हमारे शरीर के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं.

Dhanteras 2021: धनतरेस पर सिर्फ 1 रुपये में सोने की खरीदारी से चमकेगा सौभाग्य, जानें कैसे खरीदें डिजिटल गोल्ड

आपको बता दें कि ओडिशा सरकार की ओर से त्योहारों के मौसम में पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी गई है. इतना ही नहीं दिल्ली की पॉल्यूशन कंट्रोल कमिटी ने भी 1 जनवरी 2022 तक पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है. इतना ही नहीं राजस्थान सरकार ने भी राज्य में लगे पटाखों पर बैन के बीच एक एडवाइजरी जारी की है, जिसमें सिर्फ ग्रीन पटाखों की बिक्री को परमिशन दी गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें