इंदौर: डीएसपी राजिन्दर सिंह वर्मा को एक्सीलेंस इन पुलिस ट्रेनिंग अवार्ड

Smart News Team, Last updated: Tue, 26th Jan 2021, 1:10 PM IST
  • पीआरटीएस इंदौर में कार्यरत पुलिस उप अधीक्षक राजिन्दर सिंह वर्मा को यूनियन होम मिनिस्टर मेडल फॉर एक्सीलेंस इन पुलिस ट्रेनिंग पदक अवार्ड से नवाजा गया है. वर्ष 1998 में पुलिस में भर्ती हुए वर्मा  को पुलिस महानिदेशक का प्रशस्ति पत्र एवं सिंहस्थ ज्योति पदक भी मिल चुका है.
डीएसपी राजिन्दर सिंह वर्मा

इंदौर. पुलिस उप अधीक्षक राजिन्दर सिंह वर्मा को बाह्य प्रशिक्षण सेवाओं के लिए वर्ष 2019-20 यूनियन होम मिनिस्टर मेडल फॉर एक्सीलेंस इन पुलिस ट्रेनिंग पदक अवार्ड से नवाजा गया है. राजिन्दर सिंह वर्मा ने अपनी व्यावसायिक दक्षता के साथ विभाग की विभिन्न शाखाओं में कुशल नेतृत्व किया. जिला पुलिस बल, विसबल, प्रशिक्षण संस्थाओं में वर्मा के द्वारा संपादित कार्यों के लिए उन्हें इस आवार्ड से नवाजा गया है. उपरोक्त अवार्ड के लिए चुने जाने पर संस्था प्रमुख जी. जी. पाण्डेंय, पुलिस महानिरीक्षक/निदेशक एवं पुलिस अधीक्षक संतोष कोरी ने उन्हें बधाई दी। 

उप पुलिस अधीक्षक राजिन्दर सिंह वर्मा वर्ष 1998 पुलिस सेवा में भर्ती हुए. बुनियादी प्रशिक्षण के बाद उन्होंने विभिन्न जिलों बिलासपुर (छतीशगढ़), भोपाल, इंदौर में उप निरीक्षक के रूप में उत्कृष्ट सेवाएं दी. वर्ष 2007 में निरीक्षक के रूप में पदोन्नत होकर पीआरटीएस इंदौर में उत्कृष्ट सेवाऐं दी. राजिन्दर सिंह वर्ष 2014 में उप पुलिस अधीक्षक के रूप में पदोन्नत हुए. पदोन्नति के बाद नक्सली क्षेत्र बालाघाट एवं वर्तमान में पीआरटीएस इंदौर में कार्यरत हैं. साथ ही पुलिस रेडियो निमाड़ रेंज खरगोन का अतिरिक्त कार्य देख रहें हैं. उन्होंने अपनी पदस्थापना के दौरान अपनी कार्यशैली से प्रशिक्षुओं से समन्वय कर पुलिस प्रशिक्षण में उत्कृष्ट छवि बनाई.

तैराकी व गोताखोरी के लिए इंदौर की पलक को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 

वर्मा ने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को प्रभावित किया, जिससे इन्हें पुलिस महानिदेशक का प्रशस्ति पत्र एवं सिंहस्थ ज्योति पदक प्रदान किया गया है. ये पदक इनकी प्रतिभा को सामान्य कार्य से पृथक दर्शाता है और इनकी चहुंमुखी प्रतिभा को प्रतिपादित करता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें