पूर्व मंत्री जीतू पटवारी का मामला गर्माया, कांग्रेस ने डीआईजी से करी मुलाकात

Smart News Team, Last updated: 11/08/2020 12:57 AM IST
  • भाजपा द्वारा पटवारी के खिलाफ केस दर्ज करवाने के बाद आज कांग्रेसी नेताओं ने डीआईजी से मिलकर कोरोना लॉकडाउन की अवेहलना करने सहित अन्य मामलों में भाजपा के 9 विधायकों के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की है.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

एमपी की सियासत पिछले दो दिनों से फिर से उबाल पर आ गया है। कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष और राऊ से विधायक जीतू पटवारी द्वारा प्रधानमंत्री के खिलाफ विवादित ट्विट करने पर भाजपा नगर अध्यक्ष रणदिवे की शिकायत पर छत्रीपुरा पुलिस ने 188 और 464 की धारा में केस दर्ज किया. पूर्व मंत्री जीतू पटवारी पर एफआईआर दर्ज करवाने के बाद आक्रोशित कांग्रेसी आज डीआईजी ऑफिस पहुंचे और 9 भाजपा नेताओं पर केस दर्ज करने की मांग की.

कांग्रेस शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल के साथ ही विरोध दर्ज करवाने पहुंचे कांग्रेस विधायकों के शासन के दबाव में आकर पुलिस पर जबरन कार्यवाही करने का आरोप लगाया.

कांग्रेस शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने बताया कि जब शहर में 10 बजे के बाद कर्फ्यू घोषित हो जाता है तो फिर कैसे भाजपाई मिलने पहुंचे. हमने भाजपा के 9 लोगों पर केस दर्ज करने की मांग की है. भाजपा के अरविंद भदौरिया, मंत्री रामेश्वर शर्मा, मंत्री तुलसीराम सिलावट, अमित मालवीय, सुदर्शन गुप्ता, संदीप पात्रा व अमित पांचाल समेत इनके अन्य नेताओं ने हमारे बड़े नेताओं के फोटो से छेड़छाड़ कर सोशल मीडिया पर पोस्ट किए, लेकिन इनके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हुई.

कांग्रेसियों ने कहा कि यदि तीन दिन में हमारी बात नहीं मानी तो हम सड़क पर उतरकर आंदोलन करेंगे. विधायक विशाल पटेल ने कहा कि भाजपा नेताओं ने हमारे नेताओं के फोटो के साथ छेड़छाड़ की और उन्हें सोशल मीडिया पर वायरल किया. ऐसे 9 नेताओं के खिलाफ हमने डीआईजी को सबूत पेश कर मुकदमा दर्ज करने को कहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें