इंदौर: जनता कॉलोनी में नाले किनारे बने 29 मकानों के बाधक हिस्सों पर चला बुलडोजर

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Aug 2021, 12:10 PM IST
  • इंदौर नगर निगम ने बड़ा फैसला लेते हुए जनता कॉलोनी क्षेत्र में नाले किनारे अतिक्रमण कर बनाए गए मकानों के बाधक हिस्से को तोड़ने की घोषणा की थी. बता दें, क्षेत्र में 29 मकानों के पिछले हिस्से तोड़े जाने हैं. नगर निगम का रिमूवल दस्ते ने सोमवार को मौके पर पहुंचकर सुबह 9.30 बजे के आसपास कार्रवाई शुरू की.
नगर निगम का रिमूवल दस्ते ने सोमवार को मौके पर पहुंचकर सुबह 9.30 बजे के आसपास कार्रवाई शुरू की

इंदौर. इंदौर नगर निगम ने बड़ा फैसला लेते हुए जनता कॉलोनी क्षेत्र में नाले किनारे अतिक्रमण कर बनाए गए मकानों के बाधक हिस्से को तोड़ने की घोषणा की थी. बता दें, क्षेत्र में 29 मकानों के पिछले हिस्से तोड़े जाने हैं. नगर निगम का रिमूवल दस्ते ने सोमवार को मौके पर पहुंचकर सुबह 9.30 बजे के आसपास कार्रवाई शुरू की. गौरतलब है कि नगर निगम नाले किनारे सीवरेज लाइन बिछाए जाने की तैयारी कर रहा है, उसके लिए मकानों के बाधक हिस्से तोड़े जाने जरूरी थे.

इसको लेकर नगर निगम के बिल्डिंग ऑफिसर (बीओ) विवेश जैन ने बताया कि जनता कॉलोनी क्षेत्र में नाले किनारे करीब आधा किलोमीटर लंबे हिस्से में नाला ट्रेपिंग के लिए सीवरेज लाइन बिछाई जाना है, जो बाधाओं के कारण नहीं बिछ पा रही है. निगमायुक्त प्रतिभा पाल के निर्देश पर सोमवार को बाधक मकानों के हिस्से तोड़े जाएंगे. ज्यादातर मकानों का अधिकतम 10-12 फीट पिछला हिस्सा टूटेगा। तीन-चार छोटे मकान पूरी तरह तोड़ना पड़ेंगे. बीओ ने बताया कि पहले तोड़फोड़ की कार्रवाई सुबह नौ बजे से प्रस्तावित थी, लेकिन क्षेत्र में निकल रही प्रभातफेरी के कारण फिलहाल पुलिस बल नहीं मिल पा रहा है. इसलिए निगम का रिमूवल दस्ता लोगों से सहमति बनवाकर स्वेच्छा से बाधाएं हटवाने का काम करेगा.

बता दें, पिछले दिनों निगम ने नाला टेपिंग के लिए गोविंद कॉलोनी क्षेत्र में 20 से ज्यादा बाधक निर्माण तोड़े थे. निगम का लक्ष्य है कि जनवरी महीने में उसे वाटर प्लस सर्टिफिकेट पाने के लिए शहर के नदी-नालों में मिलने वाले आउटफॉल ट्रैप करना है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें