इंदौर: एमपी में होने वाले उपचुनाव में कंप्यूटर बाबा संत समाज के साथ आए सामने

Smart News Team, Last updated: 22/09/2020 06:08 PM IST
  • इंदौर. कंप्यूटर बाबा का कहना है कि में जनता, राजनेताओं और राजनीतिक विशेषज्ञों से पूछना चाहूंगा लोकतंत्र को बचाना हमारा कर्तव्य है या नहीं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कहा कि आपने और आपके साथियों ने लोकतंत्र की हत्या करते हुए सरकार बनाई है.
कंप्यूटर बाबा

इंदौर. आगामी दिनों में मध्यप्रदेश में विधानसभा के उपचुनाव होने प्रस्तावित है. इस चुनाव में लोकतंत्र बचाओ यात्रा के साथ इंदौर में कंप्यूटर बाबा ने शिवराज सरकार और उनके साथियों पर लोकतंत्र की हत्या करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार ने लोकतंत्र की हत्या करके सरकार बनाई है जबकि जनता ने कमलनाथ को चुना था.

कंप्यूटर बाबा ने मंगलवार को संत समाज के साथ लोकतंत्र बचाओ यात्रा की शुरुआत की. उपचुनाव को धर्म और अधर्म की लड़ाई बताते हुए उन्होंने 25 विधानसभा में पहुंचकर चौपाल कार्यक्रम किए जाने की योजना बनाई है. इंदौर स्थित आश्रम से बाबा मंदसौर के लिए बड़ी संख्या में साधु संतों के साथ रवाना हुए. बाबा ने कहा कि हम जनता से अपील करेंगे कि जिन गद्दारों ने आपके वोट को बेचकर आप को छला है उन्हें वोट न दें.

बाबा ने कहा कि वह उन्हीं विधानसभाओं में जाएंगे जहां के वोटरों के साथ गद्दारी हुई है और जिन स्थानों पर लोकतंत्र की हत्या हुई है. उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कहा कि आपने और आपके साथियों ने लोकतंत्र की हत्या करते हुए सरकार बनाई है. आपको ऐसी सरकार नहीं बनानी थी. जनता का विश्वास आप पर नहीं था, जनता ने आपको उखाड़ कर फेंका था. कांग्रेस को जनता ने पांच साल दिए थे, आपको नहीं. आपको पांच साल इंतजार करना था यदि आपको इतना इंतजार नहीं करना था तो चुनाव लड़ कर आना था. इस प्रकार की जो गद्दारी हुई है अब धर्म और अधर्म की लड़ाई है. हम सब इसी को लड़ने जा रहे हैं.

इंदौर: अमीर बनने के चक्कर में चुना एटीएम से चोरी करने का रास्ता

कंप्यूटर बाबा का कहना है कि में जनता, राजनेताओं और राजनीतिक विशेषज्ञों से पूछना चाहूंगा लोकतंत्र को बचाना हमारा कर्तव्य है या नहीं. हम किसी से यह नहीं कह रहे हैं कि वह किसी वोट दें. यह 25 गद्दार जिन्होंने शिवराज सरकार बनाई और उसमें मंत्री बने हैं.

विधायक पद छोड़ने के बाद भी यह खरीद-फरोख्त कर सरकार में आ गए. कहा कि उनका उद्देश्य है कि भारत का संविधान जिंदा रहे. जिन्होंने खुद को बेचकर वोटर को धोखा दिया है वह इस लायक नहीं है कि उन्हें दोबारा से चुना जाए. उन्होंने कहा कि वह सैकड़ों संतो के साथ विधानसभाओं में पहुंचकर गद्दारों को वोट न देने की जनता से अपील करेंगे. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें