मददगार बना इंदौर का फीवर क्लीनिक, एक लाख से ज्यादा मरीज हुए ठीक

Smart News Team, Last updated: 05/08/2020 08:30 PM IST
  • शहर में 44 फीवर क्लिनिकों के माध्यम से चिकित्सकीय सुविधा ले चुके व्यक्तियों का आंकड़ा एक लाख के पार 
कोरोना वाइरस 

इंदौर। जिले में सर्दी, खाँसी, बुखार व श्वास लेने में दिक्कत महसूस करने वाले मरीजों के परीक्षण एवं इलाज के लिए फीवर क्लीनिक स्थापित किए गए थे। इन्हें आशातित सफलता मिल रही है। स्थापना से लेकर अब तक गत 70 दिनो में फीवर क्लिनिक तक पहुंचने वाले मरीजों की संख्या एक लाख से ऊपर हो गई है। यहाँ आने वाले मरीजों के सर्दी, खांसी के बुखार का इलाज भी किया गया।

कोरोना वायरस की रोकथाम एवं उस पर प्रभावी नियंत्रण के लिए जिला प्रशासन द्वारा योजनाबद्ध रूप से विभिन्न स्तरों पर शुरूआती दौर से लेकर अब तक लगातार कार्य किया जा रहा है और इसके सकारात्मक परिणाम भी निरंतर सामने आ रहे हैं। शहर में 44 फीवर क्लीनिक संचालित किए जा रहे हैं। इन क्लिनिकों के माध्यम से चिकित्सकीय सुविधा ले चुके व्यक्तियों का आंकड़ा एक लाख के पार हो गया है। कोरोना वायरस के संक्रमण के रोकथाम एवं अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीज़ों को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से खोले गए इन फीवर क्लीनिकों से अब तक एक लाख दो हजार 829 व्यक्ति लाभान्वित हो चुके हैं। फीवर क्लीनिक में आये व्यक्तियों में से 238 मरीजों की सर्दी, खांसी, बुखार तथा श्वांस लेने की दिक्कत वाले (सीवियर एक्यूट रेस्पिरेट्री इनफेक्शन) मरीज मिले। इसी तरह 4 हजार 843 मरीज सर्दी, खांसी, बुखार (इनफ्लुएंजा लाइक  इलनेस) के मिले। इन सभी का इलाज किया गया। फ़ीवर क्लिनिकों का संचालन मई के अंतिम सप्ताह से शुरू किया गया था। ‍

सिविल सर्जन डॉ. संतोष वर्मा ने बताया कि रोज़ाना प्रातः 9 बजे से दोपहर चार बजे तक संचालित हो रही इन क्लिनिकों के माध्यम से अब तक कुल 3 हजार 953 मरीज़ों को होम आइसोलेट किया गया है। उल्लेखनीय है कि फीवर क्लीनिकों में अब तक कुल एक हजार 422 डायबिटिक, एक हजार 812 हाइपरटेंशन, 215 सीओपीडी, 115 कार्डियक ऐल्मेंट तथा 7 हजार 403 गर्भवती महिलाएं चिकित्सकीय परामर्श लेने पहुँची हैं। 

इन क्लिनिकों के माध्यम से कोविड-19 संक्रमण के संदिग्ध व्यक्तियों को भी लगातार अस्पताल रेफ़र किया जा रहा है। जिससे संक्रमण को रोकने में सहायता मिल रही है, साथ ही संबंधित व्यक्तियों को सही समय पर इलाज भी मिल रहा है। अब तक कुल एक हजार 155 संदिग्ध मरीजों को अस्पताल रेफर किया गया है तथा 4 हजार 12 व्यक्तियों का सैंपल लिया गया है। इस प्रकार कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों का पता लगाने तथा उनका सैंपल लेकर सही उपचार कराने में फीवर क्लिनिकों की अहम भूमिका है।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें