इंदौर: इस बार जल्दी होगी मानसून की विदाई, 15 सितंबर के बाद बारिश के आसार कम

Smart News Team, Last updated: 10/09/2020 07:43 AM IST
  • 15 जून को आया था मानसून, 15 सितंबर को वापसी. जुलाई में 11, अगस्त में 17.6 और सितंबर में अब तक 3 इंच हुई है बारिश
बरसात मे डूबा इंदौर (फ़ाइल फ़ोटो)

इंदौर। इस बार मानसून के जाने के आसार चल रही दिखाई दे रहे हैं. 15 जून को समय से मानसून आया था लेकिन इसके बाद भी हर साल के अपेक्षा इस बार पहले होगी.

15 सितंबर को मानसून के वापस जाने की संभावना है.15 सितंबर के बाद बारिश होने के आसार नहीं दिख रहे हैं. बारिश के लिहाज से सितंबर माह सबसे तंग रहा.

बुधवार तक सितंबर माह में कुल 3 इंच बारिश देखने को मिली है. बरसात के लिहाज से यह बेहद कम है.

वहीं जब फसल के पकने का समय है, ऐसे में किसान को बारिश के सबसे अधिक आवश्यकता होती है. जहां कम बारिश होने से किसान मायूस दिख रहे हैं.

सितंबर माह में बारिश नहीं होने के चलते किसानों को फसलों की सिंचाई करनी पड़ रही है. फसल की कटान में अभी करीब 1 से डेढ़ महीने बचे हुए हैं.

बरसात नहीं होने से किसानों के सामने संकट खड़ा हो गया है. इस तरह उन्हें अपनी फसल की उपज को बरकरार रखने के लिए एक से डेढ़ महीने के बीच दो बार सिंचाई किए जाने की आवश्यकता पड़ेगी.

बारिश के लिहाज से इस बार सितंबर 10 साल में सबसे कमजोर साबित हो रहा है.

बीते 09 दिन में सिर्फ 3 सितंबर को कुछ घंटों के लिए जोरदार बारिश हुई थी. बाकी दिन बादल छाए और शहर के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश हुई. मौसम विभाग के अनुसार अब कोई सक्रिय सिस्टम नहीं बन रहा है. 15 सितंबर से मानसून राजस्थान के रास्ते विदा होने लगेगा.

शहर में अब तक 39.6 इंच बारिश हो चुकी है.हालांकि यह औसत 34 इंच से ज्यादा है. इस बार मानसून पिछले चार सालों की अपेक्षा जल्दी आया था, लेकिन विदाई भी जल्दी हो रही है. वैसे मानसून की अवधि 1 जून से 30 सितंबर तक मानी जाती है.

2019 में 28 जून को मानसून आया और 31 जनवरी तक बारिश हुई. 2018 में 22 जून को घोषित हुआ और 25 सितंबर तक सक्रिय रहा. 2017 में 25 जून से 20 सितंबर तक रहा. 2016 में 22 जून को मानसून आया और 15 सितंबर तक रहा.

सीजन में सिर्फ 6 बार बिना बारिश के मानसून

1, 18, 30 जून, 3 जुलाई, 22 अगस्त को हुई बारिश से इंदौर का कोटा पूरा हो गया. इसमें भी 22 अगस्त को 12.5 इंच बारिश से आंकड़ा एकदम 20 इंच से बढ़कर 32 इंच पर पहुंच गया था. 10 दिन में सिर्फ 3 सितंबर को 2.8 इंच बारिश हुई.

बाकी दिनों में कभी-कभार कहीं-कहीं हल्की बारिश हुई. बुधवार को भी शहर में कहीं पानी गिरा तो कहीं नहीं. 12 मिमी दर्ज हुई.

मौसम विशेषज्ञ अजय कुमार शुक्ला के मुताबिक अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में सिस्टम नहीं बन रहे हैं.

बंगाल की खाड़ी से कुछ नमी आ रही है, पर तेज बारिश के आसार नहीं हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें