इंदौर: बारिश ने तोड़ा 39 साल का रिकॉर्ड, सरकारी दफ्तर में घुसा पानी

Smart News Team, Last updated: 23/08/2020 10:25 AM IST
  • इंदौर. एमपी के इंदौर में बारिश ने तोड़ा पिछले 39 साल का रिकॉर्ड. शहर में डीआईजी कार्यालय सहित कई कॉलोनियां हुई जल मग्न. एनडीआरएफ, एसडीआरएफ टीम रेस्क्यू में जुटी है. एक मासूम सहित दो लोगों की मौत.
बारिश ने इलाकों को जलमग्न कर दिया.

इंदौर. बंगाल की खाड़ी में बने दबाव के चलते मध्यप्रदेश के इंदौर में पिछले 24 घण्टों से हो रही लगातार बारिश ने पिछले 39 वर्षों के सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए पानी का बवंडर मचा दिया. डीआईजी कार्यालय सहित कई दफ्तर पानी में डूब गए. शहर की निचली बस्तियों और कई कालोनियों में पानी घरों में घुस गया. एनडीआरएफ और एसडीआरएफ टीम के साथ प्रशासन रेस्क्यू में जुटा है. वहीं एक मासूम सहित दो लोगों की बारिश के इस बवंडर में डूबने से मौत की सूचना भी मिली है.

इंदौर में पिछले 39 साल का रिकॉर्ड तोड़ने वाली बारिश ने शहर के कई इलाकों को जलमग्न कर दिया. सड़कों से लेकर ब्रिज तक हर जगह घुटनों से ऊपर तक पानी भरा है. इंदौर के कुलकर्णी भट्टा क्षेत्र में तो बारिश ने कोहराम मचा दिया. प्रशासन के साथ एसडीआरएफ की टीम ने लोगों को घरों से नाव के सहारे बाहर निकाला.

वहीं कृष्णपुरा और नंदलालपुरा पुल के पास की बस्तियों में पानी घरों में घुस गया है. बुजुर्गों को लोगों ने घरों से निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया. हरसिद्धि और मच्छी बाजार पुल को भी पानी ने तरातर कर दिया. जिसके चलते आस पास के क्षेत्रों में पानी घुस गया. वही शहर के श्याम नगर और गौरी नगर, विध्यांचल नगर, महावर नगर निचली फैल, छावनी व चांदमारी का भट्टा सहित शहर के अन्य इलाकों की बस्तियों में पानी घुस गया.

इतना ही नहीं बाणगंगा के गोविंद नगर खारचा, टापू नगर तथा छोटा बांगड़दा सहित शहर व निगम सीमा में स्थित आसपास की बस्तियों में पानी भरने से जनजीवन बेपटरी हो गयी है. तुलसी नगर मेनरोड पर नाले की पुलिया का एक हिस्सा भी तेज बहाव में बह गया है. इसके अलावा हीरा नगर और बाणगंगा इलाके सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं. वहीं शहर में कई स्थानों पर पेड़ गिरने की सूचना भी आई है. इसके अलावा ट्रांसफार्मर के पानी मे डूबने के चलते शहर के कई इलाकों में बिजली गुल है. जिसके बाद विद्युत विभाग भी सक्रिय होकर काम मे जुट गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें