इंदौर: शिवसेना नेता रमेश साहू हत्या कांड का पुलिस ने किया खुलासा, 7 गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 10/09/2020 08:14 PM IST
  • इंदौर. शिवसेना नेता रमेश साहू हत्या कांड का मुख्य अपराधी विजय घटना को अंजाम देने के बाद गुजरात के द्वारिका चला गया था और वहाँ मजदूरी करने लगा था.
शिवसेना नेता रमेश साहू

इंदौर के तेजाजी नगर क्षेत्र में विगत 2 अगस्त की रात शिवसेना नेता और ढाबा संचालक रमेश साहू की गोली मारकर हुए हत्या के मामले का पुलिस ने गुरुवार को खुलासा कर दिया. पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बताया कि मुख्य अपराधी विजय घटना को अंजाम देने के बाद गुजरात के द्वारिका चला गया था और वहाँ मजदूरी करने लगा था.

शिवसेना नेता रमेश साहू उमरीखेड़ा में ऊं साईं राम ढाबा और रेस्टोरेंट चलाते थे और यहीं पर परिवार के साथ रहते थे. बदमाश हत्या के इरादे से ही ढाबे के बाउंड्रीवाल की दीवार फांदकर अंदर घुसे थे. परिजन ने हत्या के पीछे लूट की बात कही थी, वहीं पुलिस हत्या को प्रॉपर्टी विवाद से जोड़कर देख रही थी. आरोपियों ने लूट के इरादे से वारदात को अंजाम दिया था. पुलिस ने लूट का माल भी जब्त कर लिया है और इन सभी आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जा रही है.

ऐसे मिला घटना का सुराग

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, बदमाशों ने उमरीखेड़ा गांव स्थित शिवसेना नेता और ढाबा संचालक रमेश साहू की गोली मारकर हत्या कर दी थी और अपने साथ सोने-चांदी के जेवर आदि लूटकर ले गए थे. मामले में तेजाजी नगर पुलिस ने लूट, डकैती और हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू की थी. जांच के दौरान क्राइम ब्रांच की एक टीम को पप्पू उर्फ राहुल पुत्र देवी सिंह रणवीर निवासी उमरीखेड़ा के संबंध में कुछ सुराग मिले. यह ढाबे के पास ही दो साल से रह रहा था. यह मूलत: मनावर जिला धार का रहने वाला है. इसे रमेश साहू के बारे में बहुत सी बातें मालूम थीं. संदेह के आधार पर पुलिस ने राहुल उर्फ पप्पू को गांव खामखेड़ा कसरावद में नदी के किनारे से पीछा कर पकड़ा. यहीं से जांच आगे बढ़ी और पुलिस कुक्षी के लूटपाट करने वाले गिरोह तक पहुंची.

आरोपियों ने पहले की रैकी फिर दिया घटना को अंजाम

आरोपी राहुल ने साहू के घर की जानकारी आरोपी प्रेम सिंह और कमल सिरवी को दी और वारदात के पहले दो बार ढाबे के आसपास के क्षेत्र की रैकी की. इसके बाद मास्टर माइंड प्रेम सिंह ने अन्य साथियों के साथ मिलकर 2 अगस्त की रात प्रेमसिंह पिता लाल सिंह चौहान निवासी कालिया खुर्द कुक्षी धार, सुनील पिता सुरे सिंह चौहान निवासी इमलीपुरा कुक्षी, कालू पिता धनसिंह सोलंकी निवासी लोहारा कुक्षी, विजय पिता धन सिंह निवासी इमलीपुरा धार, अंतिम पिता सड़िया धनगर निवासी लोहारा कुक्षी और कमल पिता खेमाजी सिरवी निवासी कापसी कुक्षी समेत एक अन्य आरोपी के साथ साहू के घर पर हमला बोल दिया.

बताया जा रहा है कि पहले ये सभी धार जिले के तलवाड़ा गांव में मिले और फिर बोलेरो में सवार होकर ढाबा तक आए. योजना के अनुसार, आरोपी विजय, रेम सिंह, प्रेम सिंह चौहान और सुनील चौहान कट्टे और हथियार लेकर घर में घुसे. गाड़ी में ड्राइवर अंतिम, कालू चौहान और कमल सिरवी राऊ चौराहे के पास इनका इंतजार करने लगे. आरोपी विजय सोलंकी, प्रेम सिंह और सुनील के पास देशी कट्टा था, जबकि रेम सिंह के पास हसियां थी. आरोपी राहुल उर्फ पप्पू घटना की योजना में शामिल था, लेकिन कोई पहचान ना ले, इसलिए वह यहां नहीं आया. इसके बाद चारों आरोपी ढाबे के पीछे से लूटपाट के लिए घर के अंदर घुस गए. अंदर कुत्ते दिखाई देने पर उन्होंने उन्हें बिस्किट, रोटी और मांस का टुकड़ा दे दिया, इसके बाद प्रेम ने हवाई फायर कर कुत्तों को भगा दिया.

बेटी को पीटकर हाथ तोड़ा

आरोपी विजय साहू के कमरे में गया जबकि रेम सिंह, सुनील मृतक की पत्नी और बेटी के साथ में मारपीट कर जेबरात लूटने लगे. आरोपी विजय के घुसते ही साहू की नींद खुल गई. इस पर उन्होंने विरोध किया. हाथापाई में विजय ने साहू को गोली मार दी. गोली साहू के गर्दन के पास लगी और उनकी मौके पर ही मौत हो गई. इसके बाद लूटपाट कर आरोपी भाग निकले. पुलिस के अनुसार आरोपी प्रेम ने हवाई फायर कर साहू की बेटी का हाथ तोड़ा और उसके साथ मारपीट की. गिरफ्त में आए 7 लोगों को पुलिस ने कुक्षी के ग्राम बढ़गियार, कापसी, इमलीपुरा, लुहारा, कालिया खोदरा के जंगल, नदी के किनारे, हाट बाजार और खेतों में घेराबंदी कर पकड़ा.

इंदौर: आज से शुरू हुई हावड़ा और दिल्ली ट्रेन के लिए रिजर्वेशन की सुविधा

लूट का माल पुलिस ने किया बरामद

पुलिस के अनुसार मुख्य आरोपी जिसने रमेश साहू को गोली मारी थी, उसे गुजरात के देवभूमि द्वारिका क्षेत्र के पास के गांव से हिरासत में लिया गया. विजय यहां फरारी काटते हुए मजदूरी करने लगा था. यहां पर यह एक टपरी में रह रहा था. पुलिस पहुंची तो वह भागने लगा, जिसे खेतों में दौड़कर पुलिस ने दबोचा. आरोपियों के कब्जे से दो कंगन, गले का हार, मांग टीका, दो झुमके, दो चूडियां, सोने की रुद्राक्ष माला, सोने की दो चूड़ियां, एक जोड़ी कान की सोने की कनचडी, सोने का एक टॉप्स, दो अंगूठी सोने की, एक कड़ा चांदी का, एक जोड़ी चाँदी का पायजेब सहित अवैध हथियार भी बरामद हुआ है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें