लगातार बारिश से इंदौर में जलमग्न, एयरपोर्ट रोड सहित पॉश कॉलोनियों में घुसा पानी

Smart News Team, Last updated: 22/08/2020 01:16 PM IST
  • एमपी के इंदौर मे बीते दिन देर शाम से लगातार मूसलाधार बारिश का दौर जारी है.तेज बारिश के चलते शहर के कई इलाके जलमग्न हो गए है. एयरपोर्ट रोड़ पर कॉलोनियों सहित कई पॉश इलाके पानी से तर हो गए
प्रतीकात्मक तस्वीर

मध्यप्रदेश के इंदौर में पिछले 24 घंटों से जारी लगातार मूसलाधार बारिश से जनजीवन पूरी तरह से बेपटरी हो गया है. शहर की पॉश कॉलोनियों सहित एयरपोर्ट रोड की कॉलोनियां भी पानी में डूब गई है. पिछले 24 घंटे से लगातार मूसलाधार बारिश से इंदौर पानी-पानी हो गया है. शहर की औसत बारिश 34 इंच है. जबकि पिछले 24 घंटे में ही 11 इंच से ज्यादा बारिश हाे चुकी है. अब तक इंदाैर में करीब 32 इंच पानी गिर चुका है.

बीते दिन शाम 4 बजे से बारिश का सिलसिला जारी लगातार जारी है. रात 8 बजे तक 4 घंटे में 3 इंच बारिश हुई. इसके बाद ऐसे बादल फटे कि सुबह साढ़े 8 बजे तक 8 इंच से ज्यादा पानी गिर गया. यह इस सीजन में अब तक की सबसे तेज बरसात है. मौसम वैज्ञानिकों ने शनिवार को दिनभर तेज बारिश की संभावना जताई है. इंदौर के साथ जिले के सांवेर, महू, देपालपुर और गौतमपुरा में भी भारी बारिश हो रही है.

कहाँ कहाँ भरा है पानी

जाेरदार बारिश से इंदाैर की 50 से ज्यादा काॅलाेनियां पानी-पानी हाे गईं. 20 से ज्यादा निचली बस्तियों में तो कमर तक पानी भरा है. भावना नगर क्षेत्र में कार और रिक्शा जलमग्न हो गए.इसके अलावा इंदौर की लाइफ लाइन कहलाने वाला यशवंत सागर बांध के भर जाने से सभी गेट खोल दिए गए हैं.

ओमेक्स सिटी में घरों में पानी घुस गया है. यहां कॉलोनी की सड़कों पर 3 फीट पानी बह रहा है.

राजमोहल्ला जोन के भक्त प्रहलाद नगर में सड़कें डूब चुकी हैं. घरों में 3-3 फीट पानी भरा गया है,

जूनी इंदौर में जल जमाव हो चुका है.

राज नगर, रामानंद नगर, मूसाखेड़ी मोती तबेला, झाड़ू गली, राजेश नगर, खातीपुरा, जूनी मुक्तिधाम, विंध्यनगर, एयरपोर्ट रोड, भूतेश्वर महादेव क्षेत्र, कालानी नगर, गौतमपुरा में पानी घरों में घुस चुका है.

वहीं, जोरदार बारिश की वजह से तुलसी नगर मुख्य मार्ग को जोड़ने वाली पुलिया का एक हिस्सा पानी में बह गया है. इसके अलावा तीन इमली चौराहा से नवलखा तक की सड़क लबालब हो चुकी है। बीआरटीएस ने तो नाले का रूप ले लिया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें