इंदौर: 16 मई के बाद बढ़ सकता है जनता कर्फ्यू, कलेक्टर मनीष सिंह ने दिए संकेत

Smart News Team, Last updated: Fri, 14th May 2021, 7:53 PM IST
  • इंदौर में कोरोना संक्रमण की दर अभी भी 15 प्रतिशत के ऊपर है लिहाजा कलेक्टर इंदौर ,मनीष सिंह ने सीएम के निर्देशों के मुताबिक जनता कर्फ्यू 16 मई से आगे बढ़ाए जाने के संकेत दिए हैं .
प्रतिकात्मक तस्वीर 

इंदौर. मध्यप्रदेश के इंदौर में जनता कर्फ्यू का पालन कड़ाई से कराया जा रहा है. दरअसल, यहां जनता कर्फ्यू को 16 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया था क्योंकि हर रोज कोरोना संक्रमितो की संख्या 1900 को पार कर रही थी हालांकि वर्तमान में ये आंकड़ा 1550 के करीब आ चुकी है. ऐसे में लोगो द्वारा उम्मीद की जा रही थी कि उन्हें जनता कर्फ्यू से निजात मिल जाएगी लेकिन इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने शुक्रवार को मीडिया से बात कर संकेत दे दिए है कि इंदौर में जनता कर्फ्यू (कोरोना कर्फ्यू) को आगे बढ़ाया जाएगा.

 

दरअसल, इंदौर में जनता कर्फ्यू के दौरान केवल दूध, फल ,सब्जी विक्रय की इजाजत है. वही राशन की दुकाने सोमवार और गुरुवार को सुबह 7 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक खुली रहती है. मेडिकल दुकानों को 24 घण्टे खुला रखने की इजाजत देने के अलावा प्रशासन ने औद्योगिक इकाइयों को छूट दी है. हालांकि जनता कर्फ्यू लगाने के बाद से ही इंदौर में कोरोना पर नियंत्रण हुआ है ऐसे में सुगबुगाहट ये थी कि शहर में गिरती संक्रमण की दर के बाद जनता कर्फ्यू से निजात मिल सकती है लेकिन अब ऐसा नही होगा.

इंदौर में एक ही परिवार के तीन लोगों की कोरोना से मौत

इस बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता को राहत देते हुए हाल ही में कहा है कि जिन जिलों में पॉजिटिविटी दर 5 प्रतिशत से नीचे है वहां 17 मई के बाद धीरे-धीरे कोरोना कर्फ्यू को हटाया जाएगा. सीएम ने ये भी कहा था कि ये अंतरराष्ट्रीय मापदंडों से तय है कि अगर किसी स्थान की पॉजिटिविटी दर 5% से नीचे होती है तो कोरोना संक्रमण को उस स्थान पर नियंत्रित किया जा सकता है. बता दें कि इंदौर में पॉजिटिविटी दर 15 प्रतिशत के आस-पास है ऐसे में प्रशासन किसी भी तरह की ढील देने के मूड में नही है.

शुक्रवार को इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने मीडिया को बताया कि 16 तक जनता कर्फ्यू है और इसे बढ़ाया जाएगा हालांकि कलेक्टर मनीष सिंह ने इस बात पर संतोष जताया कि इंदौर में इस समय स्थिति काफी ठीक है लेकिन सतर्कता रखने की जरूरत है क्योंकि स्ट्रेन थोड़ेअलग तरह का है. उन्होंने कहा कि टफ स्ट्रेन है इसलिए सतर्कता रखने की जरूरत है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें