मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा लैपटॉप लेने वाले 12वीं के छात्र इंदौर जिले के

Smart News Team, Last updated: 03/11/2020 06:26 PM IST
  • मध्य प्रदेश सरकार कुल 40, 542 छात्रों को लैपटॉप के लिए 101 करोड़ रुपए बांटेगी. इसमें अकेले इंदौर जिले के ही 2,189 छात्र शामिल हैं.  
मध्यप्रदेश सरकार प्रदेश के कुल 40, 542 छात्रों को लैपटॉप देने की योजना

इंदौर: मध्यप्रदेश सरकार प्रदेश के कुल 40, 542 छात्रों को लैपटॉप के लिए 101 करोड़ रुपए बांटेगी. इसमें से पहले चरण में प्रदेश के 16 हजार छात्रों को 40 करोड़ रुपए उनके खाते में 25 सितंबर को पहुंच भी चुके हैं. इसमें अकेले इंदौर जिले के ही 2,189 छात्र शामिल हैं, जिन्हें 5 करोड़ 47 लाख 25 हजार रुपए देना है. 12वीं के होनहार छात्रों को लैपटॉप देने की योजना के मामले में इंदौर जिला पूरे प्रदेश में पहले नंबर पर आ गया है, जबकि शिवपुरी जिला दूसरे नंबर पर है.

 हालांकि लैपटॉप योजना के पहले चरण में अभी तक इंदौर जिले के 809 छात्रों को 2 करोड़ 2 लाख 25 हजार रुपए उनके खाते में 25 सितंबर को ही पहुंच चुके हैं. बाकी के 1380 छात्रों को 3 करोड़ 45 लाख रुपए चुनाव बाद उनके खाते में दी जाएगी. प्रत्येक मेधावी छात्र को लैपटॉप के लिए 25 हजार रुपए मिल रहे हैं. शिक्षा विभाग ने 12वीं के उन छात्रों को भी लैपटॉप योजना का लाभ देगी, जिन्हें बोर्ड परीक्षा में 80 से 85 प्रतिशत के बीच अंक मिले हैं. इसमें इंदौर जिले के 1380 छात्र शामिल हैं. असल में मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद 12वीं की परीक्षा में 85 प्रतिशत से ज्यादा अंक लाने वाले मेधावी छात्रों को लैपटॉप देने की योजना थी.

इंदौर: 2 नवंबर से शुरू होंगे मालवा एक्सप्रेस के रिजर्वेशन

 इंदौर के जिला शिक्षा अधिकारी संजय गोयल का कहना है कि यह इंदौर जिले के लिए एक बड़ी उपलब्धि है कि 12वीं की बोर्ड परीक्षा में सबसे ज्यादा इंदौर जिले के वे मेधावी छात्र हैं, जिन्होंने 80 प्रतिशत से ज्यादा अंक हासिल किए हैं. कुछ छात्रों की राशि उनके खाते में पहुंच भी गई है. बाकी की जानकारी भी अपडेट हो चुकी है. सरकार ने लैपटॉप बांटने की योजना के नियम में संशोधन करते हुए 85 प्रतिशत से घटाकर उसे 80 प्रतिशत कर दिया. इसके बाद इंदौर जिले में लैपटॉप लेने वाले मेधावी छात्रों की संख्या 809 से बढ़ कर 2189 हो गई. इस तरह इंदौर जिला लैपटॉप योजना का लाभ लेने के मामले में पहले पायदान पर आ गया और शिवपुरी जिला दूसरे नंबर पर आ गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें