Diwali 2021: नरक चतुर्दशी पर करें ये उपाय, हनुमान जी दिलाएंगे पाप और संकट से मुक्ति

Deepakshi Sharma, Last updated: Tue, 2nd Nov 2021, 12:16 PM IST
  • धनतेरस के बाद और दीवाली से एक दिन पहले कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी के दिन नरक चतुर्दशी को मनाया जाता है. इस दिन कुछ उपाय ऐसे होते हैं जिन्हें करने से आप पर श्री हनुमान जी की कृपा बनी रहती है. साथ ही यम की पूजा का भी आज के दिन विधान है.
नरक चतुदर्शी पर करें हनुमान जी की पूजा

इंदौर. पंचांग के मुताबिक इस बार 3 नवंबर को कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी के दिन नरक चतुर्दशी मनाई जाने वाली है. ज्यादातर लोग इसे छोटी दिवाली के नाम से भी जानते हैं. ऐसा कहा जाता है कि कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी के दिन मंगलवार को हनुमान जी प्रकट हुए थे. इतना ही नहीं धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक नरक चतुर्दशी के दिन यम के नाम से दीपदान भी किया जाता है.

नरक चतुर्दशी के दिन भगवान श्री कृष्ण ने नरकासुर नामक राक्षस का विध किया था. इसीलिए इसको नरक चतुर्दशी भी कहा जाता है. ऐसा कहा जाता है कि चतुर्दशी यानी नरक चौदस के दिन लक्ष्मी जी सरसों के तेल में निवास करती है. उस दिन शरीर में तेल लगाने से आर्थिक रुप से आपको शक्ति मिलती है, जिन लोगों को आर्थिक तौर पर परेशानी होती है कि उनको इस दिन सरसों का तेल जरूर लगाना चाहिए. साथ ही नरक चौदस वाले दिन आप अपने शरीर पर उबटन भी लगाएं. बाद में फिर गुनगुने पानी से नहाएं. यहां तक की इस दिन शारीरिक तौर पर भी खुद को संवारे रखने की मान्यता है.

Dhanteras 2021: 19 साल बाद धनतेरस पर बन रहा हस्त नक्षत्र और त्रिपुष्कर योग का संयोग, दीवाली तक करें खूब खरीदारी

इस दिन भगवान श्री हनुमान का जन्म हुआ था. ऐसे में 100 बार हनुमान चालीसा का पाठ इस दिन पूरे परिवार के साथ बैठकर करने से जीवन में हर प्रकार के तनाव से मुक्ति मिलती है. वहीं, सूर्यपुत्र यम की पूजा का भी इस दिन प्रावधान है. इस दिन दक्षिण दिशा में दीया जलना चाहिए क्योंकि दक्षिण में ही यम का वास होता है. नरक चतुर्दशी या छोटी दीपावली वाले दिन सुबह गन्ना या फिर कुछ मीठा खिलाने से जिंदगी में जो परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है उससे छुटकारा मिलता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें