प्रमोट विद्यार्थियों को ऑनलाइन भरनी होगी फीस, 15 दिसंबर तक भरें पहली किस्त

Smart News Team, Last updated: 30/11/2020 11:04 PM IST
  • इंदौर में उच्च शिक्षा विभाग ने इस साल सेकंड और थर्ड ईयर के विद्यार्थियों को ऑनलाइन एडमिशन और प्रमोट करने की व्यवस्था की है. विभाग ने तीन दिन में कॉलेज से जानकारी देने के निर्देश दिए हैं. 2 दिसंबर तक बैंक खातें अपडेट करना है. फीस की शेष राशि को प्रबंधन ऑफलाइन जमा करवा सकता है.
सांकेतिक फोटो

इंदौर. कोरोना महामारी को देखते हुए उच्च शिक्षा विभाग ने इस साल सेकंड और थर्ड ईयर के विद्यार्थियों को ऑनलाइन एडमिशन और प्रमोट करने की व्यवस्था की है. इन विद्यार्थियों से ऑनलाइन फीस जमा करने को कहा गया है. 15 दिसंबर तक ऑनलाइन के जरिए फीस की पहली किस्त जमा करना है. उसके बाद विद्यार्थियों की सूची केस आधार पर विभाग प्रत्येक कॉलेजों को फीस ट्रांसफर करेगा. हालांकि ज्यादातर कॉलेजों ने अभी तक बैंक खाते अपडेट नहीं करवाए हैं, ऐसे में परेशानी हो सकती है. 

विभाग ने तीन दिन में कॉलेज से जानकारी देने के निर्देश दिए हैं. 2 दिसंबर तक बैंक खातें अपडेट करना है. अधिकारियों ने कहा कि यूजी सेकंड और थर्ड ईयर तथा पीजी फाइनल ईयर के विद्यार्थियों को प्रमोट करना है. लगभग 70 फीसदी कॉलेज ने विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रमोट की जानकारी पोर्टल पर दे दी है. जैसे ही विद्यार्थी फीस भरते हैं, उनकी राशि कॉलेजों को ट्रांसफर करेंगे. फीस की शेष राशि को प्रबंधन ऑफलाइन जमा करवा सकता है. संक्रमण की वजह से अधिकांश विद्यार्थी अभी अपने जिले और शहर से बाहर नहीं आए हैं. ऐसे में विद्यार्थियों को फीस भरने और अगली कक्षाओं में प्रमोट करने की व्यवस्था ऑनलाइन रखी है. 

कैट परीक्षा शुरू, परिजनों के साथ परीक्षा देने इंदौर पहुंचे बाहर के विद्यार्थी

अधिकांश कॉलेजों ने विद्यार्थियों को अगली कक्षा में भेजने की प्रक्रिया कर ली है, लेकिन उन विद्यार्थियों को थोड़ी परेशानी आ रही है, जो अपना कॉलेज बदल रहे हैं. कारण यह है कि उन्हें कॉलज टीसी नहीं दे रहे हैं, जिससे नए कॉलेजों को इन्हें अगली कक्षा में प्रमोट करने में दिक्कतें आ रही हैं. प्रबंधन का तर्क है कि कई विद्यार्थियों के रिजल्ट रुके हैं. इसके चलते टीसी देना संभव नहीं है. रिजल्ट अटकने से इन्हें अगली कक्षा में भेजा नहीं जा सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें