इंदौर के प्रतिनिधि सिखाएंगे मसूरी के नवप्रशिक्षु आईएएस अफसरों को 4-आर के गुण

Smart News Team, Last updated: Sat, 17th Oct 2020, 8:25 PM IST
  • इंदौर नगर निगम से जुड़े एनजीओ प्रतिनिधि और टीम के कुछ सदस्य मसूरी स्थित लालबहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी में नवप्रशिक्षु आईएएस और अन्य केंद्रीय सेवा में चुने गए अधिकारियों को 4-आर के गुण सिखाने जाएंगे.
4-आर यानी रिफ्यूज, रिड्यूस, रियूज और रिसाइकिल की नवप्रशिक्षु आईएएस और अफसरों को जानकारी मिली

इंदौर. इंदौर नगर निगम से जुड़े कुछ प्रतिनिधियों को हाल ही में एक बड़ा मौका मिला है. दरअसल, नगर निगम से जुड़े एनजीओ प्रतिनिधि और टीम के कुछ सदस्य मसूरी स्थित लालबहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी में नवप्रशिक्षु आईएएस और अन्य केंद्रीय सेवा में चुने गए अधिकारियों को 4-आर के गुण सिखाने जाएंगे. 4-आर यानी रिफ्यूज, रिड्यूस, रियूज और रिसाइकिल की नवप्रशिक्षु आईएएस और अफसरों को जानकारी दी. बता दें, इसके लिए अकादमी की तरफ से आमंत्रण मिला है.

इंदौर: बुधवार को शहर में कोरोना के 372 मामले आए सामने, 3 की मौत

इंदौर की टीम 19 अक्टूबर से 6 नवंबर के बीच अकादमी में रहकर वर्कशॉप का हिस्सा बनेगी. बता दें, प्लास्टिक के 4-आर के तहत इंदौर शहर में सबसे ज्यादा काम हुआ है. निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने बताया कि अकादमी अपने कैंपस में युवा अधिकारियों को 95वें फाउंडेशन कोर्स के तहत अन्य गतिविधियों के अलावा फालतू सामग्रियों से उपयोगी वस्तुएं बनाना सिखाना चाहती है. अकादमी पढ़ाई के अलावा प्रशिक्षकों के लिए इस तरह की रचनात्मक गतिविधियां आयोजित करती है.

बता दें, वेस्ट टू आर्ट वर्कशॉप के तहत अकादमी की डिप्टी डायरेक्टर अलंकृता सिंह ने नगर निगम से संपर्क साधा था. निगम ने फाइन आर्ट के कुछ विद्यार्थियों और एनजीओ ह्यूमन मैट्रिक्स के कैप्टन सनप्रीत सिंह को प्रशिक्षण के लिए चुना है. बता दें, इंदौर पिछले चार बार से देश का सबसे स्वच्छ शहर बनने में सफल रहा है, ऐसे में टीम के सदस्य अधिकारियों को बताएंगे कि स्वच्छता को लेकर इंदौर में किन उपायों को अपनाया गया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें