कैटरीना-विक्की की शादी में कोरोना वैक्सीन की डबल डोज वालों को ही एंट्री, 120 लोग होंगे शामिल

Anurag Gupta1, Last updated: Sat, 4th Dec 2021, 9:00 AM IST
  • कैटरीना कैफ और विक्की कौशल की राजस्थान में 9 दिसंबर को होने वाली शादी में केवल दोनों डोज ले चुके लोगों को ही प्रवेश मिलेगा या फिर आरटीपीसीआर रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य होगा. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 120 हस्तियां शामिल होंगी. विवाह स्थल किला बरवाड़ा पंचायत समिति चौथ का बरवाड़ा में है.
कैटरीना कैफ और विक्की कौशल (फाइल फोटो)

जयपुर. कैटरीना कैफ और विक्की कौशल ने 3 नवंबर को कोर्ट मैरिज करके एक दूसरे के हो गए हैं. अब 9 दिसंबर को राजस्थान में रिति रिवाज के साथ शादी होने का कार्यक्रम तय है. शादी में करीब 120 बॉलीवुड और अन्य हस्तियां शामिल होंगी. मेहमानों को COVID-19 प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा और केवल डबल टीकाकरण वाले मेहमानों को ही कैटरीना कैफ और विक्की कौशल की शादी में प्रवेश मिलेगा.

सभी जानकारी राजस्थान के सवाई माधोपुर जिले के जिला कलेक्टर (डीसी) राजेंद्र किशन ने दी है. जहां पर कैटरीना कैफ और विक्की कौशल का विवाह स्थल फोर्ट बरवाड़ा स्थित है. राजेंद्र किशन कैटरीना और विक्की कौशल को शादी लेकर नोटिस जारी की है कि किस प्रकार यातायात संभालना होगा किसी तरह भीड़ पर नियंत्रण रखना होगा व अन्य समस्याओं से कैसे निपटना है.

120 मेहमान ही होंगे शामिल:

डीसी राजेंद्र किशन ने कहा, "आयोजकों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार शादी में 120 मेहमानों को आमंत्रित किया गया है और कार्यक्रम 7 दिसंबर से 10 दिसंबर के बीच होंगे." कोविड ​​​​-19 के खतरे के सवाल पर, डीसी ने कहा कि आयोजकों को सभी प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने के लिए कहा गया है. साथ ही जिन लोगों का टीकाकरण नहीं हुआ है, उन्हें बिना आरटी-पीसीआर टेस्ट के अनुमति नहीं दी जाएगी.

शादी से पहले बुलाई बैठक:

बता दें कलेक्टर ने शुक्रवार को प्रशासन, पुलिस व वन, होटल व इवेंट मैनेजरों के अधिकारियों की बैठक बुलाई थी ताकि भीड़ नियंत्रण, सुचारू यातायात, कानून व्यवस्था और वीआईपी आवाजाही की व्यवस्था की जा सके. उन्होंने बताया कि बैठक विभिन्न एजेंसियों के बीच बेहतर समन्वय और किसी भी स्थिति के लिए प्रशासन को तैयार करने के लिए थी.

विवाह स्थल था ऐतिहासिक किला:

बता दें विवाह स्थल किला बरवाड़ा पंचायत समिति चौथ का बरवाड़ा में है जो एक ऐतिहासिक किला है जिसे अब एक हेरिटेज होटल में तब्दील कर दिया गया है. यह स्थल जिला मुख्यालय से लगभग 22 किमी और जयपुर से लगभग 174 किमी दूर है. सवाई माधोपुर जिला रणथंभौर राष्ट्रीय बाघ अभयारण्य के लिए भी जाना जाता है और मिली जानकारी के अनुसार, मेहमान विशेष बाघ सफारी का भी आनंद लेंगे.

अन्य खबरें