Free Fire में लड़की से प्यार, मिलने जयपुर से दिल्ली, पटना पहुंचा छात्र, बोला- बहू ला रहा हूं

Smart News Team, Last updated: Tue, 3rd Aug 2021, 11:53 PM IST
  • फ्री फायर ऑनलाइन गेम खेलते हुए 11वीं क्लास के छात्र को पटना की लड़की से प्यार हो गया. जयपुर अपने घर से लड़का पहले सोने-चांदी के जेवर और कैश लेकर भाग निकला. फिर दिल्ली पहुंचकर पटना के लिए निकला. पुलिस और परिवार छात्र को ढूंढते हुए पटना पहुंचे तो भाई को मैसेज करके बोला घर लौट जाओ बहू को लेकर आ रहा हूं.
Free Fire में लड़की से प्यार, मिलने जयपुर से दिल्ली, पटना पहुंचा छात्र, बोला- बहू ला रहा हूं

जयपुर. फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसी सोशल साइट्स पर प्यार परवान चढ़ने के किस्से तो बहुत सुने होंगे लेकिन अब ऑनलाइन गेमिंग पर भी मोहब्बत करने का जमाना आ गया है. जिसमें खेल-खेल में ही प्रेम कहानियां बनने लगती हैं. ऐसा ही एक मामला जयपुर से आया जहां 11वीं में पढ़ने वाले एक छात्र ने दोस्तों के कहने पर फ्री फायर गेम खेलना शुरू किया. फ्री फायर ऑनलाइन गेम खेलने के दौरान एक ग्रुप बना जिसमें उसकी मुलाकात एक लड़की से हुई. दोनों पांच महीने तक साथ गेम खेलते रहे. इस दौरान दोनों में बातचीत शुरू हो गई और दोनों को प्यार हो गया. प्यार इस कदर परवान चढ़ा कि किशोरी ने लड़के से पटना आकर शादी करने की मांग कर डाली. फिर क्या था, किशोर बिना कुछ सोचे समझे मां की अलमारी से अंगूठी, नथ, टीका, तगड़ी समेत 50 ग्राम तक के गहने और डेढ़ किलो की चांदी के सामान के साथ घर से पटना के लिए भाग निकला. 

जयपुर से किशोर 22 जुलाई को जेवर समेत 28 हजार रुपये कैश लेकर निकला. लड़का पहले जयपुर से दिल्ली गया और दिल्ली से पटना की ट्रेन पकड़ी और 24 जुलाई को पटना पहुंचा. आखिर में लड़का और लड़की ने फोन पर बात की और पटना में दोनों मिले और वहां से दिल्ली जाकर अपना नया रिश्ता शुरू करने की ठानी और ट्रेन में बैठकर निकल पड़े. किशोरी घर नहीं मिली तो उसके मामा ने फोन की लोकेशन ट्रैक की और पीछे-पीछे दिल्ली पहुंच गए. दोनों को साथ पकड़ा तो आखिरी चेतावनी देते हुए किशोर को अपने घर जाने को कहा लेकिन लड़के का प्यार इस कदर बढ़ चुका था कि उसने किशोरी के साथ रहने की काफी जिद्द की. लड़की के मामा ने दोनों की एक नहीं सुनी और लड़की को लेकर निकल गए. 

वकील का लव, सेक्स और धोखा: रेप के बाद एडवोकेट का पुलिस को चैलेंज, अरेस्ट करके...

किशोरी के मामा उसे रांची ले आए. लड़की के पीछे-पीछे वह पहले ट्रेन से पटना पहुंचा और जब उसे उसकी प्रेमिका नहीं मिली तो ढूंढता हुआ रांची के लिए निकल पड़ा. किशोर के घरवालों ने पुलिस में गुमशुदा होने की रिपोर्ट दर्ज करा दी थी पुलिस किशोर की लोकेशन ट्रैक कर रही थी. पटना में पहुंचकर पुलिस और किशोर के परिजन भी वहां पहुंच गए. किशोर ने चुपके से अपने भाई को बस से उतरते देखा तो मैसेज किया वह बहू को लेकर आ रहा है. तुम पटना से घर चले जाओ. मुझे तलाश मत करो.  बहुत समय पुलिस के इंतजार के बाद पुलिस ने किशोर की लोकेशन ट्रैक की और पुलिस 30 जुलाई की शाम घर लेकर पहुंची. चाइल्ड लाइन की काउंसिलिंग में उसने गलती कबूल की और मां के पास रहने की बात कहीं. किशोर ने बताया कि वह पूरे दिनों बस और ट्रेनों में ही सोता था. इस दौरान उसने 10 हजार रुपये खर्च कर दिए. बाकी के सारे गहने और पैसे उसके पास मिले.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें