रेड अलर्ट फ्लॉप होने से 18 दुर्लभ वन्यजीवों पर मंडराया खतरा

Smart News Team, Last updated: Sun, 4th Apr 2021, 1:09 PM IST
  • राजस्थान में सरकार द्वारा वन्यजीवों की सुरक्षा के लिए किए जा रहे दावे खोखले साबित हो रहे है. हर रोज तेजी से वन्यजीवों का शिकार बढ़ रहा है. जिसके कारण 18 दुर्लभ वन्यजीवों पर खतरा मंडराने लगा है.
रेड अलर्ट फ्लॉप होने से 18 दुर्लभ वन्यजीवों पर मंडराया खतरा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर: प्रदेश में तेजी से वन्यजीवों का शिकार बढ़ रहा और इससे सरकार द्वारा इनकी सुरक्षा के लिए किए जा रहे दावे खोखले साबित हो रहे है. ऐसे में रेड अलर्ट पूरी तरह से फ्लॉप हो गया है. वैश्विक महामारी कोरोना काल में केंन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने वन विभाग के प्रधान, मुख्य वन्यजीव संरक्षक को पत्र लिखकर शांत माहौल में शिकारी गैंग के एक्टिव होने की जानकारी दी थी. केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने इस पत्र के माध्यम से पैंथर, टाइगर सहित 18 दुर्लभ वन्यजीवों पर खतरा मंडराने की बात कही थी. केंद्रीय मंत्रालय ने विशेष तौर पर टाइगर रिर्जव पर मॉनिटरिंग के निर्देश दिए थे.

इन दिनों वन्यजीवों के शिकार के सबसे अधिक मामले रणथम्भौर इलाके में सामने आ रहे है. रणथम्भौर के खंडार रेंज में जंगली सुअर, मादा चीतल, इन्द्रगढ़ रेंज में दो तीतर के शिकार हुए है और मौके पर एक टॉपीदार बंदूक भी बरामद हुई है. पिछले पांच साल की बात की जाए तो यहां पर शिकार की 88 घटनाएं सामने आ चुकी है. रणथम्भौर की सीमा मध्यप्रदेश से सटी हुई है इसलिए एमपी के शिकारियों की घुसपैठ भी अक्सर देखने को मिलती रहती है.

ग्रामीण परिवहन बस सेवा होगी शुरू, पहले फेज में 1400 पंचायतों में चलेगी बसें

गौरतलब है कि इस निर्देश के बाद उस समय के तत्कालीन प्रधान मुख्य वन संरक्षक ने तीनों टाईगर रिर्जव के वन अधिकारियों के साथ अन्य वन खंडों के अधिकारियों को पत्र लिखकर विशेष रूप से निगरानी के निर्देष दिए थे.

भरतपुर में शिकार से बरामद किए थे मृत व जीवित दुर्लभ वन्यजीव

वन विभाग की टीम ने ही पिछले दिनों एक शिकारी को पकड़कर उसके पास से बड़ी संख्या में उससे मृत व जीवित दुर्लभ वन्यजीव बरामद किए थे. शिकारी के पास से दो मृत सियार, दो जंगली बिल्ली, दो कॉमन केट और दो पाटागोह को बरामद किया था. टीम ने उसके पास से बड़ी संख्या शिकार के फंदे भी बरामद किए थे. वहीं उदयपुर में भी एक जंगली सुअर फंदे लटका हुआ मिला था.

नौकरानी ने दम्पति को खिचड़ी में जहर मिलाकर खिलाया, 10 दिन पहले रखा था काम पर

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें