जयपुर: जयपुर के ट्री मैन ऑफ इंडिया के जीवन पर बन रही डॉक्युमेंटरी फ़िल्म

Smart News Team, Last updated: 24/08/2020 10:48 PM IST
  • 35 वर्षीय विष्णु लांबा ने अभी तक लगाए हैं 26 लाख पौधे कल्पतरु संस्थान स्वयंसेवी संस्था और विभिन्न राज्यों की सरकार के साथ मिलकर लगाए पौधे. जयपुर का आस पास, टोंक जिले के बनास नदी, आगरा रोड, लांबा गांव, जालौर, बाड़मेर आदि जगहों पर हुई शूटिंग
ट्री मैन विष्णु लांबा 

जयपुर. ट्री मैन के नाम से प्रसिद्ध विष्णु लांबा के जीवन पर आधारित फिल्म जल्द ही लोगों के सामने स्क्रीन पर होगी. डीडब्ल्यू जर्मन टीम द्वारा ट्री मैन ऑफ द इंडिया के नाम से विख्यात विष्णु लांबा के जीवन पर आधारित डॉक्यूमेंट्री फिल्म तैयार की जा रही है. इसकी शूटिंग भी ज्यादातर जयपुर के इर्द-गिर्द ही की गई है. अधिकांश शूटिंग विष्णु लांबा के जीवन क्षेत्र से जुड़े स्थानों पर की गई है. 

ट्री मैन ऑफ द इंडिया का टाइटल भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने विष्णु लांबा को दिया था. तब से विष्णु लांबा ट्री मैन के नाम से जाने जा रहे हैं. इन्होंने अब तक 26 लाख पौधे लगाए हैं. 33 वर्षीय विष्णु लांबा मूल रूप से टोंक जिले के निवासी हैं. इन्होंने अलग-अलग राज्यों में कल्पतरू संस्थान, विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं और राज्य सरकारों के साथ मिलकर पौधरोपण किया है. पिछले 27 वर्षों से यह पौधरोपण करते आ रहे हैं.

जयपुर में कोरोना केस 8500 पार, एक दिन में रिकॉर्ड 697 नए केस

इन पुरस्कारों से किया गया है सम्मानित

प्रकृति के प्रति इनके प्रेम को देखते हुए इन्हें राष्ट्रीय राजीव गांधी पर्यावरण पुरस्कार, अमृता देवी बिश्नोई पुरस्कार, डॉ एपीजे अब्दुल कलाम राष्ट्र निर्माण पुरस्कार, ग्रीन आइडियल अवार्ड सहित 100 से अधिक पुरस्कार से नवाजा जा चुका है. उन्होंने अपने नाम सैकड़ों पुरस्कार किए हैं.

पौधा चोर के रूप में हुई ट्रीमैन शुरुआत

जर्मनी की टीम द्वारा इनके जीवन पर आधारित फिल्म बनाई जा रही है. फिल्म में एक पौधे चोर के रूप में इनको शुरुआत में दर्शाया गया है. 27 वर्ष पहले इन्होंने पौधा चुराकर पौधरोपण की शुरुआत की. इसके बाद से इनके पर्यावरण संरक्षण का काम तेजी से चलने लगा.

जयपुर के मौसम सहित आज चार जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, रेड अलर्ट जारी

इन जगहों पर हुई फिल्म की शूटिंग

डीडब्ल्यू ग्रुप की ओर से विष्णु लांबा के गांव सहित आसपास के क्षेत्रों में शूटिंग पूरी कर ली गई है. फिल्म की शूटिंग टोंक जिले के बनास नदी, आगरा रोड, लांबा गांव, जालौर जिला, बाड़मेर के चौहटन आदि जगहों पर हुई है. फिल्म में गांव के पास पानी से भरे तालाब के बीच बने टापू पर नाव पर सवार होकर पौधे लेकर जाते हुए विष्णु लांबा को दिखाया गया है. साथ ही अलग-अलग स्थानों पर उनके द्वारा पौधरोपण करते हुए भी फिल्म में दर्शाया गया है.

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को समर्पित होगी यह फिल्म

फिल्म के निर्माण को लेकर विष्णु लांबा ने बताया कि डीडब्ल्यू टीम द्वारा बनाई जा रही है .फिल्म पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से बेहद उपयोगी है. इससे आमजन को सीख मिलेगी. साथ ही यह फिल्म पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को समर्पित होगी. इस फिल्म के माध्यम से लोगों के मन में प्रकृति के प्रति लगाव बढ़ेगा.

जयपुर पुलिस पर हमला, लात-घूंसों से की पिटाई, ASI सहित 4 घायल, कई गिरफ्तार

छोटे भाई के ससुराल वालों ने उपहार में दिए एक ट्राली पौधे

विष्णु ने बताया कि छोटे भाई के विवाह में लड़की वालों ने ट्राली भरकर पौधे उपहार में दिए थे. जिसके बाद गांव के चारों तरफ उन पौधों को लगाया गया. इसके अलावा पौधों को ग्रामीणों में भी वितरित किया गया. आज गांव में लाखों की संख्या में पेड़ लगे हुए हैं. इस अनोखी पहल को विदेशी अखबारों में भी खूब प्रकाशित किया गया था. पर्यावरण के प्रेम को लेकर लोग उन्हें ट्रीमैन के नाम से ही जानते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें