कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिले पायलट, 45 मिनट तक इन मुद्दों पर हुई चर्चा

Smart News Team, Last updated: Fri, 12th Nov 2021, 6:01 PM IST
  • कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने शुक्रवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से दिल्ली में उनके आवास पर मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक दोनों नेताओं के बीच करीब 45 मिनट तक कई मुद्दों पर चर्चा हुई.
कांग्रेस विधायक सचिन पायलट, फोटो क्रेडिट (एएनआई)

जयपुर. राजस्थान में जारी सियासी सरगर्मियों के बीच कांग्रेस कुछ बड़े बदलावों पर विचार कर रही है. बीच विधायक सचिन पायलट ने शुक्रवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से दिल्ली में उनके आवास पर मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक दोनों नेताओं के बीच करीब 45 मिनट तक कई मुद्दों पर चर्चा हुई. गौरतलब है कि बीते काफी समय से सचिन पायलट और सीएम अशोक गलहोत सरकार में खींचतान चर रहा है. ऐसे में यह मुलाकात काफी अहम माना जा रहा है.

उन्होंने कहा, "राजस्थान विधानसभा चुनाव में दो साल से भी कम समय बचा है, हम इसके लिए पार्टी को मजबूत करना चाहते हैं, 2023 में फिर से सरकार बनाना जरूरी है." राज्य कांग्रेस के भीतर सत्ता संघर्ष की खबरों को खारिज करते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी सामूहिक रूप से काम कर रही है और "आप और मैं नहीं" हैं. पायलट ने कहा, "कैबिनेट में कुछ रिक्तियां हैं और इसे आलाकमान द्वारा प्रासंगिक कारकों को ध्यान में रखते हुए भरा जाएगा."

इसके अलावा प्रदेश में मौजूदा सियासी हालातों के अलावा आगानी चुनाव को लेकर भी बात हुई. इसके अलावा सचिन पायलट ने सोनिया गांधी से कहा है कि जिन लोगों ने संघर्ष किया उन्हें मिले मौका मिले.

राजस्थान कैबिनेट विस्तार: 'एक व्यक्ति, एक पद' फॉर्मूला से होंगे बड़े बदलाव

मंत्रिमंडल में इन विधायकों के शामिल होने की संभावना

गौरतलब है कि राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार में पायलट के खेमे के कुछ विधायकों को शामिल करने की संभावना है. इसके अलावा राजस्थान के कांग्रेस विधायक को भी कैबिनेट में केंद्रीय स्थान दिया जा सकता है. इस पर बोलते हुए उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि पार्टी की ओर से उन्हें जो भी जिम्मेदारी दी गई है, वह वह लेने को तैयार हैं.

राजस्थान में कैबिनेट विस्तार जल्द, दिल्ली से जयपुर लौटे गहलोत, 3 मंत्रियों का हटना तय

बता दें कि इससे पहले गुरूवार को राजस्तान के सीएम अशोक गलहोत ने भी सोनिया गांधी से मुलाकात की थी. जिसमें उन्होंने मंत्रीमंडल विस्तार को लेकर अपनी बात कही थी. इसके अलावा अशोक गहलोत राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से भी मुलाकात की थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें