ग्रामीण के बाद अब शहरी क्षेत्रों में भी नियुक्त किए जाएंगे स्वास्थ्य मित्र

Smart News Team, Last updated: 18/08/2020 06:08 PM IST
  • पहले चरण में ग्रामीण क्षेत्रों में 80 हजार स्वास्थ्य मित्रों की हुई नियुक्ति, दूसरे चरण में शहरी क्षेत्रों में स्वास्थ्य मित्रों के नियुक्ति की चल रही तैयारी
स्वास्थ्य मित्र

जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने ग्रामीण क्षेत्रों में करीब 80 हजार स्वास्थ्य मित्रों के चयन के बाद अब शहरी क्षेत्रों में भी स्वास्थ्य मित्रों के चयन की प्रक्रिया शुरू करने का निर्देश दे दिया है. शहर के अलग-अलग वार्डों में स्वास्थ्य मित्रों के चयन के बाद स्वास्थ्य सुविधाओं को और भी बेहतर किया जा सकेगा.

इससे अब राज्य और केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाएं आम जन तक पहुंचेगी. कोरोना के चलते यह नियुक्ति रुकी हुई थी लेकिन हाल ही में स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना काल में नियुक्ति किए जाने के प्रस्ताव पर अपनी मुहर लगा दी है.

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में स्वास्थ्य मित्रों की नियुक्ति से स्वास्थ्य सुविधाएं और भी बेहतर हो सकेंगी. अब आम जन को भी स्वास्थ्य मित्रों के जरिए बुनियादी स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मिलेगा. कोरोना काल में स्वास्थ्य मित्र एक बेहतर कड़ी साबित होंगे.

सुपर स्प्रेडर्स की जांच पर विशेष फोकस

स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना के सुपर स्प्रेडर्स की जांच पर विशेष फोकस करने का निर्देश दिया है. इनमें दूध, सब्जी, किराना व्यापारी व डेयरी आदि में शामिल लोगों का प्रभावी तरीके से जांच करने का निर्देश दिया.

प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे राष्ट्रीय कार्यक्रम को धार देने का निर्देश

स्वास्थ्य मंत्री ने प्रदेश में चल रहे सभी राष्ट्रीय कार्यक्रमों को कोरोना काल में भी जारी रखने का निर्देश दिया. कोरोना काल में सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मातृ शिशु, टीबी उन्मूलन सहित टीकाकरण व अन्य कार्यक्रमों को प्रभावी ढंग से चलाने का निर्देश दिया.

प्लाज्मा थेरेपी को बढ़ावा देने का प्रयास

चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना महामारी पर अंकुश लगाने के लिए प्लाज्मा थेरेपी को बढ़ावा देने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि प्रदेश की मृत्यु दर वर्तमान में तेजी से कम हो रही है.

इस समय 1.4 प्रतिशत ही केवल मृत्युदर है जोकि अन्य राज्यों की अपेक्षा कम है. उन्होंने कहा कि 40 हजार की कीमत के जीवन रक्षक इंजेक्शन भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है.

यह इंजेक्शन मरीजों को निःशुल्क लगाए जा रहे हैं. सरकार की मंशा है कि प्रदेश के किसी भी व्यक्ति की कोरोना के चलते मृत्यु न हो.

कोरोना योद्धाओं की हुई नियुक्ति

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना काल में चिकित्सकों की कमी ना हो इसके लिए 2 हजार डॉक्टरों की भर्ती प्रक्रिया पूरी कर ली गई है.

इसके अलावा 12500 एएनएम व करीब 9000 जीएनएम की नियुक्ति की जा चुकी है. शेष मामलों में करीब ढ़ाई हजार ऐसे अभ्यर्थी है, जिनका चयन हो चुका है. उनकी नियुक्ति देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें