अनलॉक के बाद राजस्थान पर्यटन स्थलों पर लौटी रौनक,बड़ी संख्या में घूमने आए सैलानी

Smart News Team, Last updated: Sat, 10th Jul 2021, 2:00 PM IST
  • अनलॉक के बाद राजस्थान के पर्यटन स्थलों पर रौनक लौटने लगी है. ऑफ सीजन के बाद भी जुलाई के पहले सप्ताह तक 30 हजार से ज्यादा सैलानी पर्यटन स्थलों मे घूमने आए. 
राजस्थान के पर्यटन स्थलों में सैलानियों के आने से लौटी रौनक (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर. कोरोना की दूसरी लहर के बाद राज्यों के अनलॉक होने के साथ ही राजस्थान का पर्यटन भी अनलॉक हो गया. ऑफ सीजन के बावजूद राजस्थान के पर्यटन स्थलों पर सैलानियों की भीड़ से रौनक लौट रही है. 16 जून से पर्यटक स्थलों के खुलने के बाद से सर्वाधिक 12213 पर्यटक विश्व विरासत में शुमार आमेर को देखने पहुंचे. साथ ही हवामहल, जलमहल, नाहरगढ़ को देखने के लिए भी सैलानियों में उत्साह नजर आया. जुलाई के पहले सप्ताह तक 30 हजार से अधिक सैलानियों ने पर्यटन स्थल का भ्रमण किया.

इस बार कोरोना के कारण अंतर्राष्ट्रीय यात्री भारत नहीं आ सके. जिसे देखते हुए पर्यटन विभाग ने अपना ध्यान घरेलू पर्यटकों पर केंद्रित किया है. ऐसे में राजस्थान पर्यटन विभाग सैलानियों को आकर्षित करने के लिए कई नवाचार करने जा रहा है. राज्य के बजट में पर्यटन क्षेत्र के लिए राजस्थान सरकार ने 500 करोड़ रुपये आवंटित किए है. जिनमें से 300 करोड़ रुपये विकास कार्यों के लिए इस्तेमाल होंगे. वहीं 200 करोड़ रुपये का इस्तेमाल मार्केटिंग और ब्रांडिग के लिए किया जाएगा.

राजस्थान हाउसिंग बोर्ड ने बुधवार नीलामी उत्सव योजना में शामिल किए 2985 नए आवास, लोगों को मिलेगी बड़ी छूट

राजस्थान पर्यटन विभाग के निदेशक निशांत जैन ने बताया कि पर्यटन स्थलों के बुनियादी ढांचे के विकास संबंधित कार्यों को पूरा करने के लिए प्रदेश में स्थलों का सर्वे कराया जाएगा. इसके अलावा होटल और रेस्तरां के लिए भी कई योजनाएं बनाई गई हैं. वहीं सैलानियों की सुविधा के लिए पर्यटन विभाग अगले महीने एक मोबाइल एप भी लॉन्च करने जा रहा है. इस एप में एक पैनिक बटन भी दिया जाएगा. जिसके उपयोग से किसी समस्या में फंसने पर पर्यटक पुलिस से बात कर सकते हैं. इसके अलावा पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए सोशल नेटवर्क पर अलग-अलग कैंपेन भी चलाया जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें