अलवर की बेटी को जयपुर में जलाया, अस्पताल में भर्ती

Smart News Team, Last updated: 05/10/2020 01:14 PM IST
  • देवर ने 15 लाख रुपए कर्जा कर रखा था, पति और सास मारपीट कर पीहर से रुपये मंगवाते थे. लड़की की शादी 5 साल पहले हुई थी और दहेज की लालच में ससुराल वालों ने लड़की को मौत के घाट उतार दिया.
प्रतीकात्मक तस्वीर ,

जयपुर: राजस्थान में अब अलवर की बेटी को जयपुर में आग के हवाले कर दिया गया. पीड़िता का इतना सा कसूर था कि देवर ने 15 लाख रुपए उधार ले रखे थे और पति व सास उसे पीहर से कर्जा उतारने के लिए रुपए मंगवाने के लिए मारपीट करते और भूखा रखकर प्रताड़ित करते थे. बेटी के ससुराल वालों की करतूत देख आस-पास के लोग भी सकते में थे.

अस्पताल में 95 फीसदी झुलसी विवाहिता बेटी ने मौत से जूझते हुए इनमें से कुछ शब्द बोल पाई. उसकी हालत नाजुक है. अलवर के नारायणपुर स्थित अजबपुर निवासी बनवारीलाल शर्मा ने बताया कि मुझे क्या पता था, फूल सी बची को जिन हाथों में सौंपा है वे लालची दरिंदे निकलेेंगे. उन्होंने बताया कि वर्ष 2015 में शादी के बाद से दादी का फाटक, ग्रीन पार्क स्थित सूर्य नगर निवासी पति अनिल शर्मा, बेटी का देवर अखिल बागड़ा, सास ललिता शर्मा ससुर जगदीश नारायण शर्मा बेटी को प्रताड़ित करना चालू कर दिया था. रुपए लाने के लिए मारपीट कर घर से बाहर निकाल देते.

कई बार समाज के लोगों ने बातचीत कर समझाकर बेटी को वापस ससुराल भिजवाया. बाद में बेटी की पीछे से उसके ससुराल वालों को रुपए भी दिए, ताकि बेटी की जीवन सुखी बना रहे. उन्होंने बताया कि बेटी के देवर ने शनिवार 3 अक्टूबर की शाम को फोन कर जयपुर के एसएमएस अस्पताल पहुंचकर बेटी को देखने की बात कही, काफी पूछने पर इतना कहा कि खुद ही आकर देख लेना.

लोन दिलाने का झांसा देकर सीए ने किया दुष्कर्म, मामला दर्ज

अजबपुर से शनिवार देर रात पत्नी के साथ अस्पताल में भर्ती बेटी के पास पहुंचे, यहां बेटी के पास दामाद अनिल बैठा था. अनिल ने बेटी से नहीं मिलने दिया. बेटी की मां ने काफी मिन्नत की, वार्ड के गार्ड भी वहां आ गए, लेकिन उसने बाहर निकाल दिया. पूरा वार्ड इस घटना का गवाह भी है.

परिजनों ने बताया कि पीड़िता के पिता की रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस ने उनको बेटी से मिलवाया, हालांकि तब उसका पति कुछ दूर खड़ा होकर बेटी को घूर रहा था, लेकिन गंभीर हालत में बेटी की आंखें बंद थी. पूछने पर उसने इतना बताया कि सभी परेशान करते थे. कुछ दिन पहले उसकी शादी में पिता ने दिए गहने भी बेच दिए. पिता से 50 हजार रुपए मंगवाए थे.

पीड़िता भाई ने बताया कि उनकी रिपोर्ट दर्ज करने के बाद करधनी थाना पुलिस ने एफएसएल से घटना स्थल का मौका मुआयना करवाया.

एफएसएल और सीसीटीवी कैमरे में सामने आया है कि विवाहिता को इतना प्रताड़ित किया कि उसने ससुराल वालों के सामने सैनेटाइजर पी ली और उनके सामने उड़ेल ली और माचिस से आग लगाने लगी, लेकिन ससुराल वाले यह सब खड़े होकर तमाशा देख रहे हैं.

युवक ने माचिस जलाकर विवाहिता पर फेंकी या फिर विवाहिता ने खुद आग लगाई, इसकी जांच की जा रही है. लेकिन ससुराल वालों ने विवाहिता को एक बार भी रोकने का प्रयास नहीं किया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें