पंजाब में मचे घमासान के बीच राजस्थान सीएम गहलोत ने कैप्टन से लगाई गुहार, कही ये बात

Shubham Bajpai, Last updated: Sun, 19th Sep 2021, 3:07 PM IST
  • पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह के सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद से उन्हें मनाने का दौर जारी है. इसी बीच राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कैप्टन अमरिंदर से गुहार लगाते हुए ट्वीट किया. सीएम गहलोत ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे जिससे कांग्रेस पार्टी को नुकसान हो.
पंजाब में मचे घमासान के बीच राजस्थान सीएम गहलोत ने कैप्टन से लगाई गुहार ( फोटो सभार- एचटी)

जयपुर. पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह के अचानक सीएम पद से इस्तीफे से पूरा कांग्रेस का कुनबा सकते में हैं. कैप्टन की इस नाराजगी और भविष्य की राजनीति के कयासों से घबराकर पूरी कांग्रेस उन्हें मनाने में लगी है. इसी बीच अब कांग्रेस को नुकसान से बचाने के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कैप्टन अमरिंदर सिंह से गुहार लगाई. 

सीएम गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि मुझे उम्मीद है कि कैप्टन जी ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे जिससे कांग्रेस पार्टी को नुकसान हो. कई बार हाईकमान को विधायकों एवं आमजन से मिले फीडबैक के आधार पर पार्टी हित में निर्णय करने पड़ते हैं. 

बता दें कि अमरिंदर सिंह ने अभी सीएम पद से इस्तीफा दिया है, लेकिन वो कांग्रेस के सदस्य अभी भी हैं, लेकिन उनके अगले कदम को लेकर कई कयास लगाए जा रहे हैं.

CM गहलोत के OSD लोकेश शर्मा ने पंजाब राजनीतिक हलचल के बीच किया ट्वीट, फिर पद से दिया इस्तीफा

हाईकमान को कई बार पार्टी हित में लेने पड़ते हैं ऐसे फैसले

सीएम गहलोत ने एक चिट्ठी को ट्वीट किया, जिसमें लिखा कि मुझे उम्मीद है कैप्टन अमरिंदर सिंह ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे, जिससे कांग्रेस पार्टी को नुकसान हो. कैप्टन साहब ने खुद कहा है पार्टी ने उन्हें साढ़े 9 साल तक मुख्यमंत्री बना कर रखा. उन्होंने अपनी सर्वोच्च क्षमता के अनुरूप कार्य कर पंजाब की जनता की सेवा की है. हाईकमान को कई बार विधायक को और आमजन से मिले फीडबैक के आधार पर पार्टी हित में निर्णय करने पड़ते हैं.

अपनी अंतरात्मा की सुनें कैप्टन

सीएम ने कैप्टन अमरिंदर को अपनी अंतरात्मा की सुनने को कहा. उन्होंने लिखा कि मेरा व्यक्तिगत भी मानना है कि कांग्रेस अध्यक्ष नए नेता, जो मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में होते हैं उनकी नाराजगी मोल लेकर ही मुख्यमंत्री का चयन करते हैं. लेकिन वहीं मुख्यमंत्री को बदलते वक्त हाईकमान के फैसले को नाराज होकर गलत ठहराने में लग जाते हैं. ऐसे क्षणों में अपनी अंतरात्मा को सुनना चाहिए.

पंजाब के सियासी घमासान से राजस्थान में मची हलचल, CM गहलोत ने देर रात बदले 25 IAS अफसर

अपने से ऊपर उठकर पार्टी ऐर देश हित में होगा सोचना

सीएम गहलोत ने देश में फासिस्ट ताकतों की दुहाई देते हुए लिखा कि देश फासिस्ट ताकतों के कारण किस दिशा में जा रहा है, यह हम सभी देशवासियों के लिए चिंता का विषय होना चाहिए. इसलिए ऐसे समय में हम सब कांग्रेस जनों की जिम्मेदारी देश के हित में बढ़ जाती है. हमें अपने से ऊपर उठकर पार्टी और देश के हित में सोचना होगा. कैप्टन साहब पार्टी के सम्मानित नेता हैं और मुझे उम्मीद है कि वह आगे भी पार्टी के हित आगे रखकर ही कार्य करते रहेंगे.

कैप्टन के इस बयान से मची खलबची

बता दें कि इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया है. फ्यूचर पॉलिटिक्स हमेशा एक विकल्प होती है और जब मुझे मौका मिलेगा मैं उसका इस्तेमाल करूंगा. कैप्टन के इस बयान से कांग्रेस में हलचल मची हुई है और कई जगह कयास भी लगाए जा रहे हैं कि कैप्टन भाजपा में शामिल हो सकते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें