60 साल पहले जिस दिन शादी के बंधन में बंधे, उसी दिन दंपति ने छोड़ दी दुनिया

Smart News Team, Last updated: Fri, 27th Nov 2020, 4:02 PM IST
  • जयपुर की विराटनगर पंचायत समिति के ग्राम पंचायत कुहाड़ा की घटना. एक ही चिता पर किया गया पति-पत्नी का अंतिम संस्कार. पति-पत्नी के शादी की 60वीं वर्षगांठ पर एक साथ दुनिया से अलविदा होने की खबर बनी चर्चा का विषय.
बुजुर्ग दंपती की फाइल फोटो

जयपुर. इसे महज संयोग कहें या कुछ और कि 60 साल पहले जिस दिन एक जोड़ा विवाह के बंधन में बंधा था, 60 साल बाद ठीक उसी दिन दोनों एक साथ दुनिया को अलविदा भी कह गए. दरअसल, जयपुर की विराटनगर पंचायत समिति के ग्राम पंचायत कुहाड़ा निवासी एक दंपती ने 60 साल पहले जिस तिथि पर परिणय-सूत्र में बंधकर साथ जीने-मरने की कसम खाई थी, उसी दिन दोनों ने एक साथ दुनिया को छोड़कर चले गए.

विराटनगर के कुहाड़ा निवासी प्रभुदयाल नैनावत व सरबती देवी का वर्ष 1960 में देवउठनी एकादशी के दिन विवाह हुआ था. बुधवार को देवउठनी एकादशी के दिन ही अचानक सरबती देवी का निधन हो गया और उनके निधन के कुछ समय बाद ही प्रभुदयाल नैनावत ने भी दुनिया छोड़ दिया. पति-पत्नी के शादी की 60वीं वर्षगांठ पर एक साथ दुनिया से अलविदा होने की खबर चर्चा का विषय बन गई. कुछ ही घंटों में घटना की जानकारी आसपास गांवों में फेल गई, जिससे गम का माहौल छा गया. 

जयपुर में रात 10:30 बजे डीजे बंद कराने पहुंची पुलिस तो लोगों ने कर दिया हमला

कुहाड़ा के शिवराम गुर्जर ने बताया कि प्रभुदयाल नैनावत और सरबती देवी 1960 में देवउठनी एकादशी के दिन परिणय सूत्र बंधन में बंधे थे. बुधवार को देवउठनी एकादशी थी,  इसी दिन बुजुर्ग दंपती में से 79 वर्षीय सरबती देवी ने पहले दम तोड़ दिया, कुछ देर बाद ही उनके 81 साल के पति प्रभुदयाल नैनावत ने भी इस दुनिया को छोड़ दिया. पति-पत्नी की अचानक मृत्यु होने के बाद परिजनों ने दोनों की एक ही समय पर अंतिम यात्रा निकालकर एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें